साइबर सेल का अधिकारी बनकर करता था लोगों को ब्लैकमेल, पढ़ें

Navodayatimes

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। एक अज्ञात व्यक्ति साइबर सेल का अधिकारी बनकर लोगों के फेसबुक अकाउंट्स को हैक कर दिल्ली-एनसीआर के लोगों को पैसे के लिए ब्लैकमेल करता था।

पीड़ित के अनुसार, एक व्यक्ति ने उसे फोन करके कहा कि वो दिल्ली पुलिस के साइबर सेल से बोल रहा है और इसके बाद ट्रू कॉलर आईडी पर भी उसका नंबर को साइबर सेल का दिखा रहा था, जिसकी वजह से पीड़ित उससे उसकी पहचान नहीं पूछते थे।

CM योगी पहुंचे बुंदेलखंड, आज फिल्ड में करेंगे निरक्षण

पीड़ित ने बताया कि उनके फेसबुक अकाउंट को कई बार खोलने का प्रयास किया गया, लेकिन पासवर्ड गलत होने की वजह से उसे ओटीपी मांग रहा था। इसके बाद पीड़ित द्वारा ओटीपी साझा होते ही उसे अपना फेसबुक अकाउंट खोले करने में काफी परेशानी होती है। जिसके बाद उसके अकाउंट से संबंधित ईमेल आईडी और फोन नंबर को बदलकर उसका पूरा नियंत्रण ले लेता है।

इसके बाद वो व्यक्ति पीड़िता को फिर से फोन करता है और कहता कि अब आपके फेसबुक अकाउंट पर आपका कोई नियंत्रण नहीं हैं अगर आप इसे वापस पाना चाहते हैं तो 2,100 रुपए की राशि की जमा करनी होगी।

जस्टिस काटजू का विवादित बयान, गांधी जी को कहा 'ब्रिटिश एजेंट' और 'रास्कल'

दिल्ली के रहने वाले पीड़ित दीपक बंसल ने बताया कि उनके फेसबुक अकाउंट को भी इसी तरह की कार्यप्रणाली का इस्तेमाल करके किसी व्यक्ति के द्वारा हैक कर लिया गया था। उनका दावा कि वो प्रधानमंत्री की पहल  मेक इन इंडिया के लिए काम कर रहे हैं और उनके फेसबुक चैट में उनके काम से संबंधित कई गोपनीय जानकारी है।

दीपक बंसल का कहना है कि उन्होंने तीन किस्तों में 2000 रुपए को उसके पेटीएम में ट्रांसफर कर चुके हैं जिस नंबर से उस व्यक्ति ने उन्हें फोन किया था, लेकिन इसके बाद भी अधिक पैसे लेने के लालच में उसने मुझे फेसबुक अकाउंट का नियंत्रण देने से मना कर दिया। जिसके बाद मेरी पहली प्राथमिकता बन गई थी कि तीन-चार दिनों में अपने अकाउंट का नियंत्रण हासिल करके रहूंगा। इसके लिए अपने जीमेल अकाउंट को हैक किया और फेसबुक अकाउंट को हासिल करने में अपने कौशल का इस्तेमाल किया।

UP: BJP विधायक ने टोल प्लाजा कर्मचारी को मारा थप्पड़, Video Viral

लेकिन, बंसल की दोस्त  पूजा सोनिक शुक्ला जो कि गुड़गांव में फ्रीलांस मेक-अप कलाकार है वो इतनी भाग्यशाली नहीं थी। उन्होंने अपने फेसबुक अकाउंट के नियंत्रण के साथ-साथ 4 अप्रैल अपने 'पेज' को भी खो दिया थी। पूजा ने इसके लिए उस व्यक्ति के अकाउंट में 1000 रुपए की राशि भी दी थी, लेकिन वो अपना नियंत्रण पाने में नाकाम रही। जबकि दीपक बंसल अपने कौशल के जरीए अपने फेसबुक का नियंत्रण और पेज भी पा गए।

इसके बाद बंसल और शुक्ला ने 6 अप्रैल को दिल्ली पुलिस और गुड़गांव पुलिस की साइबर अपराध सेल में इसकी शिकायत दर्ज कराई। इस दौरान पाया गया कि ऐसे 20 लोग है जो इसे शिकार हुए है। इनमे से एक व्यक्ति तो ऐसा निकला जिसने अपने फेसबुक का नियत्रंण पाने के लिए 20000 रूपए दिए बावजूद उसे उसके फेसबुक अकाउंट का नियत्रंण नहीं मिला।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr

ताज़ा खबरें