प्रद्युम्न मर्डर केस :हत्या को लेकर सख्त हुआ CBSE, दो दिन में मांगी स्कूल से रिपोर्ट

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुई सात वर्षीय प्रद्युम्न की हत्या पर सीबीएसई भी जांच करवाने जा रहा है. इसके लिए उसने दो सदस्यीय समिति बनाई है और स्कूल प्रबंधन से दो दिन के भीतर रिपोर्ट देने को कहा है।

सात वर्षीय प्रद्युम्न की हत्या पर गुड़गांव के इस स्कूल पर लापरवाही बरतने का आरोप लग रहा है। परिवार वाले के अलावा दूसरे पैरंट्स भी पुलिस और प्रशासन पर स्कूल मैनेजमेंट पर एक्शन लेने की मांग कर रहे हैं। साथ ही परिवार वालों ने इस वारदात की सीबीआई जांच करवाने की भी मांग की है।

 वहीं केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने गुड़गांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में सात साल के एक छात्र की हत्या की जांच और इस सिलसिले में तथ्यों का पता लगाने के लिए आज दो सदस्यों वाली एक समिति का गठन किया।

रेयान इंटरनेशनल स्कूल में बच्चे की मौत का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। अब हरियाणा सरकार के खिलाफ लोगों ने नारेबाजी शुरू कर दी है। इस पर प्रक्रिया देते हुए हरियाणा सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा स्कूल से संबंधित सारी लापारवाहियों के मद्देनजर एक हफ्ते में सारी प्रक्रिया पूरी कर दी जाएगी।

इससे पहले, गुड़गांव के पुलिस आयुक्त संदीप खेरवार ने कहा कि पुलिस इस मामले में सात दिन के अंदर जार्चशीट दाखिल करेगी। उन्होंने कहा कि कोर्ट से अपील की जाएगी कि इस मामले का ट्रायल फास्ट ट्रैक कोर्ट में किया जाए। 

वहीं प्रद्युम्न की मां का कहना है कि इस मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए। इस दौरान हरियाणा सरकार में लोक निर्माण विभाग के मंत्री राव नरबीर सिंह ने मृतक के घरवालों से मुलाकात कर संवेदना व्यक्त की।

जाने-माने स्कूल रेयान इंटरनेशनल में दूसरी क्लास के बच्चे प्रद्युम्न की हत्या ने शुक्रवार को पूरे देश में सनसनी फैला दी। इस घटना में प्राथमिक जांच में जो तथ्य सामने आए हैं वो किसी भी अभिभावक को चिंता में डाल सकते हैं।

#Gorakhpurtragedy के बाद खुलासा, नासिक के अस्पताल में हुई 55 नवजातों की मौत

पुलिस ने स्कूल बस के कंडक्टर को गिरफ्तार कर जब सख्ती से पूछताछ की तो उसने बताया कि उसने बालक का यौन शोषण करने का प्रयास किया था। जिसके बाद गुरुग्राम कोर्ट ने प्रद्युम की हत्या के आरोपी बस कंडक्टर को तीन दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा दिया। इसके साथ ही  बार असोसिएशन ऑफ सोहना ने यह निश्चय किया है कि कोई भी वकील आरोपी की तरफ से केस नहीं लड़ेगा।

साथ ही हरियाणा पुलिस द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए इस केस में कहा गया कि -

  • आरोपी का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं
  • हमें भरोसा है कि जब जांच पूरी होगी तो सभी को संतुष्टि होगी, 7 दिन में हम जांच पूरी करेंगे
  • 2 दिन में एक व्यापक जांच होगी जिसमें सिक्यॉरिटी गार्ड्स का वेरिफिकेशन जैसी बातों की जांच होगी
  • आरोपी का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं
  •  कोशिश करेंगे कि सीबीआई जांच की जरूरत न पड़े
  • हम अच्छी तरह जांच करने वाले हैं जिसमें हर बात का ध्यान रखा जाएगा
  • अभी कंडक्टर की भूमिका ही सामने आई हैं। 
  • सिक्योरिटी एजेंसी की मान्यता रद्द होगी।
  • जांच रिर्पोट के आधार पर तुंरत कार्रवाई होगी। 
  • दोषी को कड़ी सजा होनी चाहिए। 
  • प्रद्युम्न मर्डर केस का फस्ट ट्रायल हो
  • 7 दिन में केस की चार्जशीट दाखिल करेंगे।
  • मामले से संबंधित सबूत जुटाए जा रहे हैं।

वहीं,घटना से उत्तेजित अभिभावकों ने स्कूल में तोडफ़ोड़ की और पोस्टमार्टम हाउस के पास जाम भी लगा दिया। आज भी मृतक के परिजनों ने अपना प्रदर्शन जारी रखा हैं। इसी बीच ऐसी खबर आई है कि पुलिस ने की अभिभावकों के साथ धक्का मुक्की भी की हैं। साथ ही इस हंगामे के चलते कुछ समय के लिए स्कूल बंद होंगे। दूसरी तरफ हरियाणा के शिक्षामंत्री  का कहना है कि वह  कल गुरुग्राम जाएंगे। दोषी को सजा मिलेगी। बच्चे के माता-पिता के साथ उनकी पूरी सहानुभूति है।      

इसके अलावा  इस मामले में  गुरुग्राम के डीसीपी का कहना है कि प्रिंसिपल को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही स्कूल की सिकॉरिटी ए़़जेंसी के खिलाफ भी कारवाई की जा रही है। वहीं,गुरुग्राम हत्या को लेकर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने न्याय दिलाने का भरोसा करते हुए कहा कि , 'यह लोगों और स्कूलों के लिए चेतावनी जैसा है। पीड़ित को न्याय जरूर मिलेगा।'

वहीं, अभिभावकों ने cbi जांच की मांग करते हुए कहा कि बच्चे को किसी और ने मारा है,कंडक्टर सिर्फ मोहरा है।

टीवी चैनलों पर दिन भर सुर्खियों में बनी रही इस घटना की शुरुआत सुबह उस वक्त हुई जब स्कूल के वाशरूम में से कक्षा दो में पढऩे वाले छात्र प्रद्युमन (7) की लाश मिली। उसकी गर्दन काटकर हत्या कर दी गई थी। स्कूल के माली ने सबसे पहले प्रद्युमन को लहूलुहान पड़े हुए देखा और घटना की सूचना स्कूल प्रबंधन को दी। बच्चे की हत्या गर्दन को चाकू से रेत कर की गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल के पास से ही चाकू को बरामद कर लिया।

IFTDA में हनीप्रीत और राम रहीम के रिश्तों को लेकर हुआ बड़ा खुलासा, पढ़ें

पुलिस जांच में सामने आया कि मासूम का गला रेतने के बाद हत्यारा बाथरूम की खिड़की से कूदकर भाग गया। सूचना पर डीसीपी ट्रैफिक सिमरदीप सिंह, डीसीपी साउथ अशोक बख्शी मौके पर पहुंचे। बच्चे के पिता बिहार के दरभंगा निवासी वरुण कुमार ठाकुर शांति कुंज मेंं रहते हैं और किसी गारमेंट कंपनी में काम करते हैं। वह सुबह प्रद्युमन को खुद ही स्कूल छोडऩे गए थे। स्कूल छोडऩे के बाद वे घर आ गए कि कुछ देर बाद ही स्कूल प्रशासन ने उन्हें सूचना दी कि प्रद्युमन को घायल अवस्था में लेकर बादशाहपुर ले जाया गया। वहां से उसे लेकर आर्टेमिस अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसको मृत घोषित कर दिया। 

आरोप है कि सुबह 7 बजे घटना की जानकारी हो जाने के बाद भी परिजनों को नौ बजे सूचना मिली। जानकारी के अनुसार वाशरूम से जब बच्चे को बाहर निकाला गया उस समय उसकी सांसे चल रही थी, अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr