वारदात से पहले प्रद्युम्न के साथ दिखा आरोपी छात्र, VIDEO क्लिप में हुआ खुलासा राज

वारदात से पहले प्रद्युम्न के साथ दिखा आरोपी छात्र, VIDEO क्लिप में हुआ खुलासा राज

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।  सीबीआई के पास दो वीडियो क्लिप हैं जिसमें प्रद्युम्न के साथ आरोपी छात्र करीब आठ से नौ सेकेंड तक साथ दिख रहा है।  जिसे अदालत के सामने रखे गए। उन दोनों क्लिप  में से एक में आरोपी छात्र प्रद्युम्न के साथ दिखाई दे रहा है। इसको लेकर सीबीआई का कहना है कि अब तक की जांच के हिसाब सके कहीं से भी यह नहीं लगता है कि हत्या में अशोख किसी भी तरह की भूमिका निभा रहा है। वहीं अगर छात्र की बात कहीं जाए तो उसके खिलाफ काफी सुबूत मजौदू हैं। वीडियो क्लिप में यह साफ दिख रहा है कि आरोपी छात्र प्रघुम्न के साथ है।

प्रद्युम्न मर्डर केस: CBI ने बस कंडक्टर को क्लीनचिट देने से किया इंकार

वहीं, इसके साथ ही 20 नवबंर को अदालत में वीडियो क्लिप से लेकर जांच से संबंधित सभी दस्तावेज सीबीआी की ओर से अदालत के सामने रखेगी। जिसको देखने के बाद ही अदालत जमानत को लेकर फैसाल सुना सकती है। 

कंडक्टर अशोक को नहीं मिली कोर्ट से राहत

रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुए प्रद्युम्न हत्याकांड की सुनवाई वीरवार को अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायधीश रजनी यादव की अदालत में हुई। अदालत ने सीबीआई, पुलिस, आरोपी अशोक व सीबीआई द्वारा की गई जांच में स्कूल के ही 11वीं के छात्र के अधिवक्ता भी अदालत में पेश हुए और उन्होंने अपनी दलीलें दी। सीबीआई ने अदालत में मामले से संबंधित दस्तावेज भी पेश किए। सभी अधिवक्ताओं ने अपनी-अपनी दलीलें पेश की। 

अदालत ने अधिवक्ताओं की 2 घंटे बहस सुनी। लेकिन, बहस पूरी नहीं हो सकी। जिस पर अदालत ने पूरी बहस सुनने के लिए आगामी 20 नवम्बर की तारीख निश्चित कर दी है। अदालत ने इस मामले की सुनवाई प्रात: ही शुरू कर दी थी। मामले से संबंधित अधिवक्ताओं ने अपने दस्तावेज अदालत में पेश किए। अदालत ने मामले पर बहस के लिए भोजनावकाश के बाद का समय निश्चित कर दिया था। 2 बजे बहस शुरू हुई जो 4 बजे तक चलती रही। इस दौरान अदालत ने सीबीआई द्वारा पेश की गई फुटेज भी देखी। आरोपी अशोक कुमार के वकील ने अदालत से आग्रह किया कि सीबीआई प्रद्युमन की हत्या के मामले की जांच कर रही है और उसने उसी स्कूल के 11वीं के छात्र को आरोपी बनाया है और उसे बाल सुधार गृह भेजा गया है। इसलिए अशोक को इस मामले से निकालते हुए उसे जमानत दी जाए।

सीबीआई, छात्र के अधिवक्ता आदि ने अशोक को जमानत दिए जाने का विरोध करते हुए अदालत से आग्रह किया कि उसे जमानत न दी जाए। सीबीआई ने अदालत से यह आग्रह भी किया कि अभी मामले की जांच चल रही है। जांच पूरी नहीं हुई है। इसलिए अशोक को कैसे क्लीन चिट दी जा सकती है। अदालत ने अशोक को किसी तरह कोई राहत नहीं दी। मामले पर बहस पूरी नहीं हो सकी। जिस पर अदालत ने 20 नवम्बर को फिर से बहस सुनने के बाद अपना फैसला देना निश्चित किया है। 6 नवम्बर अदालत कक्ष के बाहर सुबह से ही मीडिया व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया आरोपी अशोक के परिजन तथा इस मामले में रुचि रखने वाले लोगों की भीड़ लगनी शुरू हो गई थी। हर कोई अदालती कार्यवाही की जानकारी पाने के लिए उत्सुक दिखाई दिए। लोगों का शाम तक जमावड़ा लगा रहा। मीडिया को अदालती कार्यवाही से दूर रखा गया था। 

प्रद्युम्न हत्याकांड में नाबालिग छात्र ने लगाया आरोप- CBI ने कहा जुर्म कबूल लो वरना ...

हालांकि इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के आधा दर्जन से अधिक चैनल अपनी ओबी वैन के साथ अदालत परिसर पहुंचे हुए थे। उधर, जिला प्रशासन ने भी अदालत परिसर में पुख्ता सुरक्षा प्रबंध किए हुए थे। बड़ी संख्या में पुलिस व कमांडो तैनात किए हुए थे, ताकि कोई अप्रिय घटना घटित न हो जाए। गौरतलब है कि गत 8 सितम्बर को रेयान स्कूल के दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युमन की स्कूल परिसर में ही गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। जिस पर काफी बवाल भी मचा था। पुलिस ने स्कूल बस के कंडक्टर अशोक को इस मामले में गिरफ्तार कर लिया था। बाद में मामले ने तूल पकड़ा तो प्रदेश सरकार ने इस मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी थी। सीबीआई ने ही अपनी जांच में स्कूल के 11वीं के छात्र को आरोपी माना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr

ताज़ा खबरें