गाजियाबाद: क्लिक के नाम पर फिर हुई हजारों करोड़ की ठगी

Navodayatimesनईदिल्ली/ब्यूरो। ऐड कैश, वेबवर्क और एब्लेज की तरह क्लिक के नाम पर एक और कंपनी द्वारा हजारों लोगों से करोड़ों रुपए ठगने का मामला प्रकाश में आया है। सोमवार को बड़ी संख्या में पीड़ित एसएसपी ऑफिस पहुंचे। एसएसपी दीपक कुमार के ऑफिस में नहीं होने पर पीड़ितों ने एसपी ग्रामीण ओमप्रकाश से मामले की शिकायत की।

विद्यार्थियों की कम उपस्थिति पर अध्यापकों का कटेगा वेतन

एसपी ग्रामीण ने जांच के आदेश दिए हैं। पीड़ितों का कहना है कि गाजियाबाद पुलिस से मदद न मिलने पर डीआईजी मेरठ से मुलाकात करेंगे।

एक हजार करोड़ की ठगी का अंदेशा: पीड़ितों ने बताया कि ङ्क्षलकरोड थाना क्षेत्र में दिसम्बर से सोशल ट्रेडिंग कंपनी शुरू की गई है। अक्तूबर में कंपनी ने ट्रायल वर्क शुरू किया था। इस दौरान कंपनी से करीब 20 हजार लोगों को जोड़ा गया था। कंपनी में रुपए लगाने वाले राजीव गुप्ता ने बताया कि उनके पास अभी 742 लोगों को सूची है। इसके अलावा कंपनी में 20 हजार लोगों ने विभिन्न पैकेज पर सदस्यता ली हुई थी। पीड़ितों का कहना है कि उक्त कंपनी ने दिल्ली-एनसीआर से करीब 20 हजार लोगों से 1 हजार करोड़ रुपए ठगे हैं।

घर बैठे मोटी रकम कमाने का दिया लालच 

शिकायत करने आए लोगों ने बताया कि कंपनी के सदस्य बनने के लिए 4 तरह के पैकेज थे। पैकेज के हिसाब से सदस्यों को रोजाना क्लिक मिलता था और प्रत्येक क्लिक के पैसे तय थे। कंपनी की तरफ से 5750 से लेकर 1,15,000 रुपए तक के पैकेज थे। 5750 के प्लान में रोजाना 60 रुपए, 11,500 में 120 रुपए, 57,500 में 800 रुपए और 1,15,000 के प्लान में रोजाना 2000 रुपए की कमाई का लालच दिखाया गया था।

कंपनी से जुड़े नए सदस्यों को 3 दिन में दो अन्य सदस्य को जोड़कर डबल मुनाफा कमाने का लालच दिया गया। लोगों ने बताया कि 17 दिसम्बर को कंपनी शुरू हुई। फरवरी तक सदस्यों को क्लिक के पैसे मिले, उसके बाद रुपए आने बंद हो गए। इस पर जब सदस्य कंपनी के ऑफिस में पहुंचे तो ताला लगा मिला और ठगी का अहसास हुआ। 

गाजियाबाद को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए खर्च किए जाएंगे 66 करोड़ रुपये

पुलिस नहीं कर रही मदद 

पीड़ितों ने बताया कि हाल ही में कंपनी के निदेशकों का पीछा कर मसूरी थाना क्षेत्र में उन्हें पकड़ा था। आरोपयिों को थाने ले जाकर पुलिस के हवाले किया गया था। इसके बावजूद थाने में मौजूद पुलिस पीड़ित पक्ष को धमकाते हुए आरोपियों को छोड़ दिया।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr