एंटी रोमियो स्क्वॉड की तर्ज पर बनेगा महिला सुरक्षा दल

एंटी रोमियो स्क्वॉड की तर्ज पर बनेगा महिला सुरक्षा दल

नई दिल्ली/ब्यूरो। दिल्ली सरकार ने महिला सुरक्षा दल के गठन की जिम्मेदारी दिल्ली महिला आयोग के सुपुर्द कर दी है। सरकार ने महिला एवं बाल विकास विभाग को इसके लिए मसौदा तैयार करने के निर्देश भी दिए हैं। अगले एक महीने में इसे तीन जगहों पर पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू करने की प्लॉनिंग है। बता दें कि आप सरकार इसी तरह का प्रयास पहले कर चुकी है लेकिन तत्कालीन उपराज्यपाल नजीब जंग ने इस पर ब्रेक लगा दी थी। महिला सुरक्षा दल का गठन आम आदमी पार्टी का एक प्रमुख चुनावी वादा रहा है। 

नोटबंदी के बाद आने लगे 2000 के नकली नोट

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को बताया कि दिल्ली के हर इलाके और विशेषकर महिलाओं में असुरक्षा का भय व्याप्त है। इस भय को समाप्त करने के लिए स्थानीय स्तर पर महिला सुरक्षा दल के गठन का निर्णय किया गया है। पहले सरकार ने अपने स्तर से इसे शुरू करने की पहल की थी लेकिन अब इसकी जिम्मदारी दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) को सौंप दी है।

वहीं, दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि राजधानी में महिलाओं के प्रति अपराध बढ़ रहा है। छोटी बच्चियों तक से सामूहिक बलात्कार हो रहे हैं। इससे महिलाओं में असुरक्षा का माहौल बढ़ रहा है। इसे देखते हुए स्थानीय स्तर पर महिला सुरक्षा दल गठित किया जाएगा। दल में स्थानीय महिलाओं के साथ पुरुषों को भी शामिल किया जाएगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि इससे महिलाओं में असुरक्षा का माहौल समाप्त करने में मदद मिलेगी। 


दिल्ली सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा के मद्देनजर स्थानीय स्तर पर महिला सुरक्षा दल के गठन को एक बार फिर हरी झंडी दे दी है। इस दल में न केवल महिलाएं होंगी, बल्कि पुरुष भी भागीदारी निभाएंगे। यह दल सड़क, बसों, मेट्रो और स्कूल-कालेजों के आसपास लड़कियों को छेडऩे वाले मजनंूओं की ‘खबर’ लेगा। दल के सदस्यों की सुरक्षा के लिए सिविल डिफेंस के कार्यकर्ता रहेंगे, लेकिन दल ऐसी घटनाओं की जानकारी स्थानीय पुलिस को देकर कार्रवाई करने को बाध्य करेगा।

पकड़ा जाएगा मनचलों को 

स्वाति ने महिलाओं की सुरक्षा की महीने में 2 बार समीक्षा करने के लिए केंद्र और राज्य की संयुक्त उच्चस्तरीय कमेटी बनाने की मांग की है। महिला सुरक्षा दल स्थानीय पुलिस को इलाके में महिलाओं के साथ होने वाली छेडख़ानी की घटनाओं समेत महिलाओं से जुड़ी समस्याओं से अवगत ही नहीं कराएगा बल्कि कार्रवाई के लिए भी बाध्य करेगा। दल के मुख्य रुप से दो काम होंगे। इलाके में महिला सुरक्षा को लेकर जागरुकता फैलाना और महिला सुरक्षा से जुड़ी समस्या से स्थानीय पुलिस को अवगत कराना। ताकि समय रहते कार्रवाई हो सके।

सांस की आस में दम तोड़ रहे सड़कों पर लगे पौधे

हत्या मामले में 3 साल से फरार को दबोचा

 दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा की टीम ने हत्या के मामले में तीन साल से फरार कुख्यात गौरव झरेरा गैंग के सदस्य को दबोच लिया है। पकड़े गए आरोपी की पहचान दिल्ली कैंट निवासी बबलु उर्फ शाका उर्फ विकास (32) के रूप में की गई है। आरोपी ने अपने अन्य साथियों के साथ राकेश उर्फ कालू नामक युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। इस मामले में पहले ही अन्य सभी आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके थे। अब बबलु के गिरफ्तार किए जाने के बाद मामले में सभी आरोपी धरे जा चुके हैं। बताया जाता है कि आरोपी के पिता आर्मी से रिटार्यड हैं। 

पुलिस उपायुक्त भीषम सिंह के मुताबिक अपराध शाखा की इंटर बॉर्डर गैंग के अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई करने वाली टीम को सूचना मिली कि कुख्यात गौरव झरेरा गैंग का सदस्य जो नवंबर 2014 में दिल्ली कैंट में हुई हत्या में शामिल था, वह जिला केन्द्र के पास स्थित स्टैंर्डड चार्टड बैंक के पास आने वाला है। सूचना के आधार पर एसीपी जसबीर सिंह की निगरानी में टीम बनाकर उक्त स्थान से आरोपी को घात लगाकर दबोच लिया। 


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr

ताज़ा खबरें