नींद की गोली खिलाने वाली नौकरानी को जेल

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। गृहस्वामी को नींद की गोलियां खिलाकर डकैती डालने की वारदात कराने की महिला आरोपी को पुलिस रिमांड की अवधि समाप्त हो जाने पर मंगलवार को ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया, जहां से अदालत ने आरोपी मंजू को न्यायिक हिरासत में जिला जेल भेज दिया है। 

जानकारी के अनुसार डीएलएफ फेस 2 सेवानिवृत विंग कमांडर सतीश कुमार चौहान ने उड़ीसा मूल की मंजू को नौकरानी के रूप में काम पर रखा था। मंजू ने उन्हें अपना आधार कार्ड भी दिया था, जिस पर सतीश कुमार ने कहा था कि वह अपने परिजनों को लेकर आए। मंजू एक महिला और एक व्यक्ति को लेकर उनके पास आई थी कि ये उसके परिजन हैं। मंजू अपने साथियों के साथ मिलकर बड़ी वारदात को अंजाम देने वाली थी, जिसके लिए उसने योजना बनाई कि गृहस्वामी व अन्य परिजनों को नींद की गोलियां खिला दी जाएं तो योजना को अंजाम दिया जा सकता है।

यातायात अधिकारियों की योजना पर पानी फेर देते हैं पुलिसकर्मी

गत रविवार को उसने दाल में नींद की गोली मिला दी थी। उसने सेवानिवृत अधिकारी के बेटे को दाल में नींद की गोलियां खिला दी। जबकि परिवार के अन्य सदस्य बाहर डिनर पर गए थे। उनके लौटने के बाद उनसे भी खाना खाने का आग्रह किया गया था। अधिकारी का बेटा बेहोश हो गया था। पुलिस को इस योजना का सुराग लग गया था और उसने समय से पूर्व ही एक महिला सहित 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया था। उनसे पूछताछ के बाद पुलिस ने रात्रि में ही पूर्व अधिकारी के आवास पर दस्तक देकर नौकरानी मंजू द्वारा अपने साथियों के साथ मिलकर योजना को अंजाम देने का खुलासा किया था। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr