Exclusive interview: ट्रेड फेयर में भीड़ नियंत्रण के खास प्लान: एलसी गोयल

Exclusive interview: ट्रेड फेयर में भीड़ नियंत्रण के खास प्लान: एलसी गोयल

नई दिल्ली/ब्यूरो। प्रगति मैदान में आगामी 14 नवम्बर से शुरू होने वाले अंतरराष्ट्रीय ट्रेड फेयर में इस बार भीड़ नियंत्रण के लिए खास प्लान तैयार किया गया है। निर्माण कार्य के कारण इस बार प्रगति मैदान के आधे हिस्से में ही मेला आयोजित किया जा रहा है, लिहाजा भीड़ नियंत्रण एक बड़ी चुनौती होगी।

भीड़ नियंत्रिण करने के लिए आईटीपीओ की ओर से क्या रणनीति तैयार की गई है। इसके लिए कौन-कौन से कदम उठाए गए हैं, इन बातों को अंतरराष्ट्रीय ट्रेड फेयर के चेयरमैन एंड मैनेजिंग डायरेक्टर एलसी गोयल ने ‘नवोदय टाइम्स’ से खुलकर बातचीत की। पेश है बातचीत के कुछ अंश। 

सवाल : ट्रेड फेयर में भीड़ नियंत्रण के लिए क्या खास इंतजाम किए गए हैं

जवाब : देखिए प्रगति मैदान के आधे हिस्से में इस बार मेला आयोजित किया जा रहा है। लिहाजा भीड़ नियंत्रण के लिए आईटीपीओ ने प्रमुख तौर से चार बड़े कदम उठाए हैं। पहला यह कि पिछली बार से इस बार टिकट के दामों में 20 प्रतिशत बढ़ोतरी की गई है, दूसरा यह कि एडवांस बुकिंग और ऑनलाइन टिकट की सुविधा भी रहेगी, जिससे प्रवेश द्वार पर लम्बी-लम्बी कतार नहीं लग सके और एक समय में अचानक भीड़ नहीं जुट पाए। रोज टिकटों की बिक्री की सीमा 60-70 हजार तय की गई है।

इसके अलावा अधिक भीड़ वाले मेट्रो स्टेशनों पर ही टिकट की बिक्री और वितरण किया जाएगा, ताकि प्रगति मैदान में भीड़ की समस्या खड़ी नहीं हो पाएगी। टिकट के दाम सामान्य दिनों में 60 रुपए होगी, जबकि वीकेंड और होली-डे में 120 रुपए की होगी। भीड़ नियंत्रण के लिए इस बार विशेष प्लान यह भी किया गया है कि बिजनेस ऑवर 5 दिन की बजाय इस बार 4 दिन ही होंगे, जबकि आम लोगों के लिए एक दिन अधिक होंगे। 

सवाल : ट्रेड फेयर का आकर्षण इस बार क्या होगा। 

जवाब : आईटीपीओ ने पूरी कोशिश की है कि इस बार छोटे हिस्से में आयोजित होनेवाले मेले में दर्शक मायूस नहीं हो सकें। मेला में दर्शकों के लिए मुफ्त स्वास्थ्य शिविर, नुक्कड़ नाटक, सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। हां, जगह की कमी के कारण इस बार 2 जगहों पर ही स्वास्थ्य शिविर लगाए जाएंगे। पिछली बार 4 जगहों पर स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया था। इसी तरह हंसध्वनी थिएटर में ही लोग सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आनंद उठा सकेंगे। इसके अलावा 2022 विदेशी कंपनियों से दर्शक रूबरू हो सकेंगे। इन कंपनियों को 2700 वर्गमीटर की जगह दी गई है, जो कि पिछली बार से अधिक है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से एक नुक्कड़ नाटक भी प्रस्तुत किया जाएगा जो मुख्य आकर्षण का केंद्र होगा। सीमा सुरक्षा बल, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, आदि अद्र्धसैनिक बलों की ओर से भी प्रदर्शनी लगाई जा रही है। 

सवाल : प्रदूषण की समस्या से कैसे निपटेंगे? 

जवाब : देखिए प्रदूषण की समस्या यहां नहीं खड़ी होगी। आईटीपीओ ने साफ-सफाई के लिए विशेष इंतजाम किए हैं। अंतरराष्ट्रीय स्तर की सफाई के लिए सफाई और कचरों को हटाने और सफाई के लिए मशीन का प्रयोग किया जाएगा। चौबीस घंटे सफाई बरकरार रहे, इसके लिए जगह-जगह प्वाइंट भी बनाए गए हैं। सफाई कर्मचारी शिफ्ट में तैनात किए जाएंगे। इसके अलावा जिन जगहों पर निर्माण कार्य चलेंगे वहां चौबीस घंटे पानी के छिड़काव की व्यवस्था होगी, ताकि धूलकण नहीं उड़ सके। फिलहाल निर्माण कार्य नहीं चल रहे हैं, बल्कि सैंपलींग का कार्य चल रहा है। ऐसे में प्रदूषण की समस्या यहां खड़ी नहीं होगी। 

सवाल :दर्शकों से क्या अपील करेंगे 

जवाब : ट्रेड फेयर जैसे बड़े आयोजनों में लोगों का सहयोग बहुत ही जरूरी है। ऐसे में दर्शक व्यवस्था बनाए रखने में प्रशासन और पुलिस का सहयोग करें। किसी भी प्रकार की अफवाह न तो फैलाएं और नहीं अफवाहों पर ध्यान दें। सुरक्षा को बनाए रखने में प्रशासन का सहयोग करें। चूंकि इस बार छोटी जगह में इस मेले का आयोजन किया जा रहा है, लिहाजा लोगों का सहयोग सबसे अधिक जरूरी है। अगर टिकट नहीं ले सकें तो निराश नहीं हों और न ही भगदड़ मचाएं। 

सवाल : प्रगति मैदान के प्रोजेक्ट कब पूरे होंगे? 

जवाब : देखिए प्रगति मैदान में चल रहे निर्माण कार्य 2019 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। प्रोजेक्ट तय समय में पूरे कर लिए जाएंगे। उम्मीद है कि 2019 का ट्रेड फेयर में दुनिया के कई अजूबे और बेहतरीन के साथ-साथ अजूबा भी होगा। दुनिया के सबसे बड़ा कंवेंशन सेंटर यहां बनाया जा रहा है। प्रगति मैदान की तर्ज पर चीन भी एक कंवेंशन सेंटर बना रहा है, बावजूद इसके प्रगति मैदान का कंवेंशन सेंटर कई खूबियों से भरा होगा। ऐसे में 2019 का ट्रेड फेयर एक मिसाल कायम करेगा। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr

ताज़ा खबरें