बनना चाहती थी भगवान शिव की पत्नी, किया आत्मदाह

Navodayatimesपटौदी, 6 जनवरी (ब्यूरो): इसे अंधविश्वास कहें या भक्ति का अतिरेक। मगर जहां धर्म की बात है तो वहां पर अंधभक्ति या कहें अंधविश्वास हावी होने लगता है। ऐसे में धर्मांध व्यक्ति की सोचने-समझने की शक्ति खत्म हो जाती है। पटौदी के इच्छापुरी की 25 वर्षीया अनीषा शर्मा खुद को शिव जी की पत्नी के रूप में देखना चाहती थी। उसने खुद को शिव मंदिर में आग लगा लिया। 

 सूत्रों के अनुसार पटौदी खंड के गांव शेरपुर की रहने वाली युवती अनीषा शर्मा पुत्री कालूराम रेवाड़ी में एमए की छात्रा थी तथा वह शिव भक्त  थी। अनीषा के पांच बहनें और एक भाई हैं। मंदिर के महंत गोपालजी के अनुसार शुक्रवार की देर शाम अपने आपको आग लगाने से पूर्व अनीषा नाम की यह लड़की शिव मंदिर में आई और इसके बाद एक-एक कर सभी मंदिरों में भगवान के दर्शन किए तथा बाद में मंदिर के स्नानघर में चली गई।

 नहीं थमा समाजवादी पार्टी का विवाद, अध्यक्ष पद छोड़ने को राजी नहीं अखिलेश!

कुछ देर बाद लोगों ने स्नानघर में आग लगने की बात उन्हें बताई, लेकिन जब तक वो स्नानघर में पहुंचे तब तक वह मर चुकी थी।

क्या लिखा है सुसाइड नोट में

अनीषा ने सुसाइड नोट में लिखा है कि मैं शिवभक्त हूं तथा इस जन्म में शिव को प्राप्त नहीं कर सकी। हे मां पार्वती मुझे आशीर्वाद दो कि मैं अगले जन्म में शिव को प्राप्त कर लूं।

इस बार के विधानसभा चुनाव में ये होगा आपके लिए नया

क्या कहते हैं अधिकारी

इस संबंध में थाना प्रभारी जितेंद्र सिंह राणा का कहना है कि मृतका के पास से सुसाइड नोट बरामद किया गया है, इसलिए हत्या की कोई आशंका नहीं है, पुलिस छानबीन   कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr