हाईटेक होगी दिल्ली पुलिस, संदिग्धों की पहचान के लिए लगाए जाएंगे खास स्कैनर

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। संदिग्धों या फरार अपराधियों पर नजर रखने के लिए दिल्ली पुलिस फिलहाल पुराने गैजट का सहारा लेती हैं। जिसमें एक सीमा के बाद मैनुअल हस्तक्षेप जरूरी होता है। इसी क्रम में संदिग्धों की गतिविधियों पर बेहतर ढंग से नजर रखने के लिए दिल्ली पुलिस ने अपनी तकनीक को और अत्याधुनिक करने का फैसला किया है।

एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में आईजीआईए के स्पेशल कमिश्नर संजय बेनीवाल ने कहा है कि पुलिस या सुरक्षा एजेंसियों के पास संदिग्धों या फरार अपराधियों के अधिकतर पुराने फोटो होते हैं। कुछ सालों के बाद उन्हें पहचानना बहुत ही मुश्किल हो जाता है। लेकिन नए अत्याधुनिक फेस स्कैनर की मदद से उन पर नजर ऱखी जा सकती है।

हालांकि ये गैजट महंगे होते हैं लेकिन दिल्ली पुलिस का मानना है कि यह इनके पहुंच से दूर नहीं है। अभी तक गैजट का चयन नहीं किया गया है लेकिन उस दिशा में काम चल रहा है। पुलिस का मानना है कि ये गैजट विभाग के लिए आंख, कान और नाक का काम करेंगे। इन अत्याधुनिक फेस स्कैनर को भीड़-भाड़ वाले जगहों जैसे एयरपोर्ट, बस अड्डा, रेलवे स्टेशन और बाजारों में लगाए जाएंगे। पुलिस कमिश्नर और गृह मंत्रालय की अनुमति मिलने के बाद इसकी प्रक्रिया चालू कर दी जाएगी। 

दूसरी ओर, फेस स्कैनर के अलावा पुलिस ने 'SAVIOR ROV' जैसी बम निष्क्रिय करने वाली मानव रहित गैजट को भी शामिल करने का प्रस्ताव रखा है। इस गैजट को रिमोट के द्वारा संचालित किया जा सकता है। फिलहाल दिल्ली पुलिस को इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) या दूसरे विस्फोटक को निष्क्रिय करने के लिए एनएसजी या सेना का सहारा लेना पड़ता है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr

ताज़ा खबरें