Monday, Jan 22, 2018

मल्टीपल एकेलेरॉसिस के इलाज में बीएमटी है उपयोगी

  • Updated on 4/21/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/ब्यूरो। कनिका जुनेजा (24) अपने दांए हाथ की संवेदनशीलता खत्म होने से खासा परेशान थीं। कुछ दिनों में ही उनकी हालत और बिगड़ गई। नतीजतन 8 अक्तूबर, 2014 को उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया, जहां उन्हें मल्टीपल स्केलेरॉसिस से पीड़ित बताया गया।

बचकर रहें कहीं खराब न हो जाए शरीर का फिल्टर

यह प्रतिरोधक क्षमता से संबंधित बीमारी है। इस विकार में शरीर की प्रतिरोधक प्रणाली मस्तिष्क और मेरु-रज्जु में मौजूद तंत्रिका कोशिकाओं को ढ़कने वाले सुरक्षा कवच पर हमला करना शुरू कर देती है। इस बीमारी ने पीड़ित के शरीर पर कई रूपों में अपना असर दिखाना शुरू कर दिया और वह विकलांगता के कगार पर पहुंच गई थी। स्थिति से निपटने के लिए मरीज को महंगे स्टेरॉयड इंजेक्शन लेने पड़े। जिसने सीर्फ जलन कम किया। 

कई चरणों में महंगे उपचार कराने के बाद मरीज के परिवार ने फोर्टिस अस्पताल में संपर्क किया। क्लीनिकल हेमेटोलॉजी और बोन मैरो ट्रांसप्लांट के निदेशक डॉ. राहुल भार्गव, एफ एमआरआई की टीम ने उन्हें बोन मैरो ट्रांसप्लांट (बीएमटी) कराने की सलाह दी। 

डॉ. राहुल भार्गव के मुताबिक मल्टीपल स्केलेरॉसिस का कारण अब भी एक पहेली बनी हुई है। उपचार के तौर पर सिर्फ इसके प्रोगेस को ही रोका जा सकता है। ऑटोलॉगस बीएमटी प्रक्रिया के तहत मरीज की स्वस्थ स्टेम कोशिकाओं को निकालकर सुरक्षित रखा जाता है। इसके बाद शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को नया आधार देने के लिए कीमोथेरेपी की जाती है।

बेहतर स्वास्थ्य का महत्वपूर्ण माध्यम है लीवर

कीमोथेरेपी के नुकसान से मरीज को बचाने के लिए स्टेम कोशिकाओं को दोबारा शरीर में प्रविष्ट कराया जाता है। सर्जरी के बाद मरीज को कुछ महीनों तक लोगों के संपर्क से दूर रखा जाता है। ताकि उसे किसी तरह का संक्रमण न हो। डॉक्टरों का दावा है कि कनिका के स्वास्थ्य में अब तेजी से सुधार हो रहा है। 

भाई के अंगदान से बच चुकी हैं 34 जिंदगियां 

यहां बता दें कि कनिका कुछ वर्ष पहले सुॢखयों में आए अनमोल जुनेजा की बहन है, जिनके अंगदान के फैसले को पूरे देश ने सराहा था। 21 वर्षीय अनमोल जुनेजा को 2012 में मृत घोषित किया गया था। जिसके बाद उनके परिवार ने 34 लोगों की जान बचाई थी। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.