बेहतर स्वास्थ्य का महत्वपूर्ण माध्यम है लीवर

Navodayatimesनई दिल्ली/ब्यूरो।  विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक सर्वाधिक जानलेवा बीमारियों में लीवर की समस्या 10वें पायदान पर है। लीवर न केवल शरीर का महत्वपूर्ण अंग है बल्कि शरीर को स्वस्थ्य रखने में भी इसकी महत्वपूर्ण भूमिका है। शरीर का दूसरा सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण अंग पाचन तंत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। वहीं संक्रमण से लडऩे, रक्त शर्करा को नियंत्रित रखने, शरीर से विषैले पदार्थों को निस्तारित करने, कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण, प्रोटीन निर्माण और पित्त उत्सर्जित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

 अगर आप भी गर्मियों में यूज करते हैं AC तो जान लें ये नुकसान

फोर्टिस एस्कॉर्ट्स हार्ट इंस्टीट्यूट के निदेशक डॉ. विवेक विज के मुताबिक, लीवर को स्वस्थ रखने में की गई लापरवाही संपूर्ण शरीर के स्वास्थ्य पर गंभीर असर डाल सकती है। खास बात यह है कि लीवर संक्रमित होने या क्षतिग्रस्त होने की स्थिति में खुद लक्षण प्रकट नहीं करता और जब तक लक्षण प्रकट होता है, तब तक बहुत देर हो चुकी होती है।

वर्तमान समय में प्रदूषित खानपान, लापरवाह जीवन शैली, शराब और तंबाकू उत्पादों का सेवन, व्यायाम की कमी लीवर खराब होने के जोखिम को बढ़ाने वाला साबित हो रहा है। ऐसे में लीवर को स्वस्थ रखने पर ध्यान देना जरूरी हो जाता है। विशेषज्ञों के मुताबिक, लीवर खराब होने की स्थिति में बचाव का एकमात्र विकल्प अंग प्रत्यारोपण है। 

लीवर खराब होने के कारण 

  • वंशानुगत या आनुवंशिक हो सकता है। 
  • अनियमित जीवन शैली और भोजन में लापरवाही। 
  • हेपेटाइटिस ए, बी और सी संक्रमण। 
  • बड़े पैमाने पर अल्कोहल का सेवन या उच्च कोलेस्ट्रॉल पदार्थों का सेवन। 
  • उच्च बीएमआई (बॉडी मास इंडेक्स), जो टाइप 2 मधुमेह जोखिम से जुड़ा होता है।

 ...अगर चाहिए मानसिक तौर पर मजबूती तो जरा इधर भी ध्यान दें

बचाव के उपाए 

  • अंकुरित अनाज, प्रोटीन, डेयरी उत्पाद, फल, हरी पत्तेदार सब्जियां, ब्रोकली, फूलगोभी, गोभी, गाजर, सेब और अखरोट का नियमित सेवन। 
  • पूरे अनाज ब्रेड, चावल और क्विनॉ, बाजरा, हेटाइटिस ए, बी, सी से बचाव के लिए सुरक्षित रक्तदान। 
  • व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखने की कोशिश और स्वच्छ शौचालय का प्रयोग। 
  • यात्रा के दौरान नल के पानी से बचें। शराब, तंबाकू और नशीली दवाओं से परहेज। 
  • नियमित रूप से व्यायाम करें, हाथ धोने की आदत डालें। 

संबंधित रोग और लीवर कैंसर के लक्षण 

  • अचानक वजन घटना। 
  • भूख या भोजन के बाद भी भूख लगते रहना। 
  • मितली और उल्टी। 
  • सामान्य कमजोरी और थकान। 
  • पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द (दाहिनी ओर या दाएं कंधे के ब्लेड के पास)
  • बढ़ा हुआ लीवर (हेपटेमेगाली) 
  • बढ़ी हुई तिल्ली 
  • पेट में सूजन (जलोदरियां)
  • पीलिया
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr