Monday, Jan 22, 2018

बचकर रहें कहीं खराब न हो जाए शरीर का फिल्टर

  • Updated on 4/20/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/ब्यूरो।  इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने बुधवार को वल्र्ड लीवर डे के अवसर पर भारत में बढ़ रहे लीवर संबंधी बीमारियों पर चिंता जताई है।

बेहतर स्वास्थ्य का महत्वपूर्ण माध्यम है लीवर

आईएमए के प्रेसिडेंट डॉ केके अग्रवाल ने बताया कि जरूरत से अधिक शराब का सेवन करने से फैटी लीवर डिजीज होते हैं जो बाद में लीवर सिरोसिस में बदल जाते हैं और मरीज लीवर ट्रांसप्लांट करवाने की स्टेज पर पहुंच जाता है। इसके लिए यह बहुत जरूरी है कि स्वस्थ जीवन शैली रखी जाए ताकि हमारा लीवर स्वस्थ्य रख सके। हर 6 में से 1 शख्स फैटी लीवर से ग्रस्त है। 

आईएमए के जनरल सेक्रेटरी डॉ आरएन टंडन ने बताया कि लीवर शरीर का दूसरा सबसे बड़ा आर्गन है जो हमारे खून से ड्रग और एल्कोहल को फिल्टर करने का काम करता है। हार्मोन और ब्लड शूगर का लेवल मेन्टेन करके रखता है। शरीर की जरूरत के हिसाब से ब्लड प्रोटीन, एंजाइम्स और अन्य पोषक तत्व को एकत्रित करके रखता है। लीवर से होने वाली 40 प्रतिशत मौतें एल्कोहल लीवर सिरोसिस के कारण होती हैं। 

दूषित हवा दिल के लिए है खतरनाक, महिलाओं पर होता है ज्यादा असर

लीवर को स्वस्थ्य रखने के लिए इन बातों का रखें ख्याल

  • साफ और पोषक तत्वों से भरा खाना खाएं और रोजाना कसरत करें, हर तरह का भोजन करें, जैसे कि दूध, फल, अनाज, सब्जियां इत्यादी, शराब, सिगरेट, नशीले पदार्थों का सेवन करने से बचें यह लीवर सेल को डैमेज करती हैं
  • डॉक्टर से बिना पूछे दवाओं का सेवन करने से लीवर डैमेज हो सकते हैं इसलिए डॉक्टर से पूछकर हमेशा दवाओं का सेवन करें
  •  मोटापा भी लीवर डैमेज का एक कारण हो सकता है। इसलिए यह जरूरी है कि शरीर की लंबाई के अनुसार वजन का ख्याल रखें 
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.