अगर-मगर के फेर में फंसी हिमाचल सरकार, अब इस दिन होगी मंत्रिमंडल की बैठक

Navodayatimesनई दिल्ली/कुलदीप।आगामी विधानसभा चुनाव की घोषणा से ठीक पहले राज्य सरकार अगर-मगर के फेर में फंसकर रह गई है। इसी के चलते मंत्रिमंडल की 23 सितम्बर को प्रस्तावित बैठक अब 27 सितम्बर तक टाल दी गई है। इसी दौरान 24 सितम्बर को केंद्रीय मुख्य चुनाव आयुक्त भी शिमला पहुंचेंगे और 25 सितम्बर को सभी जिला निर्वाचन अधिकारी (डी.सी.) तथा चुनाव से जुड़े अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे।

हिमाचल: 3.72 किलो ग्राम चरस के साथ पुलिस ने एक तस्कर को दबोचा

उनका प्रमुख राजनीतिक दलों व कर्मचारियों के साथ भी बैठक करने का कार्यक्रम है। सभी पक्षों की राय जानने के बाद केंद्रीय मुख्य चुनाव आयुक्त 26 सितम्बर को वापस दिल्ली लौट जाएंगे। 

हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव की घोषणा गुजरात के साथ की जानी है और जब केंद्रीय चुनाव आयोग दोनों राज्यों की तैयारियों से पूरी तरह से संतुष्ट होगा, उसके बाद ही चुनावी घोषणा की जाएगी।

मंत्रिमंडल बैठक में सरकार की तरफ से महत्वपूर्ण घोषणाएं की जा सकती हंै। अनुबंध कर्मचारियों की भी अपनी मांगें हैं जिनको लेकर सरकार कोई निर्णय ले सकती है। इसके अलावा टी. पॉलिसी और राजस्व संबंधी कई अहम निर्णयों पर चर्चा हो सकती है।

पट्टे पर भूमि देने वाला निर्णय गलत : प्रेम कुमार धूमल

कभी भी हो सकती है विधानसभा चुनाव की घोषणा 
माना जा रहा है कि केंद्रीय मुख्य चुनाव आयुक्त की तरफ से चुनावी तैयारियों का जायजा लेने के बाद कभी भी विधानसभा चुनाव की घोषणा की जा सकती है। राज्य सरकार भी चुनाव की घोषणा से ठीक पहले मंत्रिमंडल बैठक करके अहम निर्णय लेना चाहती है।

 इसी उधेड़बुन में मंत्रिमंडल की पहले 23 सितम्बर को होने वाली बैठक अब 27 सितम्बर तक टाल दी गई है। यानी सरकार को लगता है कि विधानसभा चुनाव की घोषणा 27 सितम्बर के बाद होगी जो संभवतया अक्तूबर माह के पहले या दूसरे सप्ताह में की जा सकती है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr

ताज़ा खबरें