जानें, क्यों ट्वीट कर नौकरशाहों की कुशलता बता रही हैं शीला दीक्षित

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने आज कहा कि दिल्ली में "कुछ सबसे कुशल" नौकरशाह हैं, उनके उत्तराधिकारी के एक दिन बाद अरविंद केजरीवाल ने दावा किया कि 90 प्रतिशत आईएएस अधिकारी काम नहीं करते।

तीन बार मुख्यमंत्री रहीं  शीला ने कहा कि दिल्ली के अधिकारियों ने शहर को बदलने के उनके लक्ष्य को हासिल करने में उनकी मदद की। दीक्षित ने ट्वीट कर कहा कि केजरीवाल जी, दिल्ली में कुछ कुशल नौकरशाह हैं उन्होंने दिल्ली को बदलने के उनके लक्ष्य को हासिल करने में अथक प्रयास किए हैं।

इस दिवाली इन बेहतरीन रंगोलियों से सजाएं अपने घर का आंगन, मां लक्ष्मी होगी प्रसन्न

दीक्षित 1998 से 2013 तक 15 वर्ष तक दिल्ली की मुख्यमंत्री थी, वह राष्ट्रीय राजधानी में कांग्रेस सरकार का नेतृत्व कर रही थी। सोमवार को एक घटना में, केजरीवाल ने आरोप लगाया था कि 90% आईएएस अधिकारी "काम नहीं करते" और साथ ही उन्होंने कहा कि कभी-कभी उन्हें लगता है कि विकास "सचिवालय में फंस गया है"।

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने ये भी आरोप लगाया था कि आईएएस अधिकारियों ने "विकास कार्यों की फाइलें बाधित" की हैं। आप सरकार और नौकरशाही (जो उपराज्यपाल के अधीन आता है) कई मुद्दों पर विवादों में रहे हैं। दिसंबर 2015 में, दिल्ली सरकार के नौकरशाहों अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह सिविल सेवा (डैनीक्स) केडर के अधिकारियों के निलंबन के विरोध में सामूहिक छुट्टी पर चले गए थे।

हार्दिक पटेल का PM मोदी पर तंज: बार- बार गुजरात आ रहे हैं, क्या BJP नर्वस है

मई 2015 में, केजरीवाल ने तत्कालीन कार्यकारी मुख्य सचिव शकुंतला गैमलिन पर "बिजली कंपनियों के पक्ष लेने का आरोप लगाया था और दावा किया था कि वह सरकार को इन दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करने की कोशिश कर रही है, जो इन कंपनियों को 11,000 करोड़ रुपये दे देंगे"। इस महीने की शुरुआत में, सरकार ने एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी के कार्यालय को लॉक करने के आदेश जारी कर दिए थे। जब उन्होंने तत्कालीन विद्युत सचिव गैमलिन की नियुक्ति को कार्यवाहक मुख्य सचिव के रूप में नियुक्त करने के निर्देश जारी किए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr