Wednesday, Jan 24, 2018

सावधान! Whatsapp ग्रुपों से फैली अफवाह तो ग्रुप एडमिन जाएंगे जेल

  • Updated on 4/20/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। भ्रामक खबरों और अफवाहों पर लगाम कसने के लिए वाराणसी के जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने एक संयुक्त आदेश जारी कर हिदायत दी है कि सोशल मीडिया और वॉट्सऐप पर किसी भी अफवाह, गलत तथ्यों से भरी या समाजिक समरसता के विरुद्ध पोस्ट पाए जाने पर संबंधित व्यक्ति के साथ ही ग्रुप एडमिन पर भी कडी कार्रवाई की जाएगी।

यूपी: सोशल मीडिया पर महिला टीचर की ये तस्वीर हुई Viral

जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्रा और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नितिन तिवारी द्वारा संयुक्त रूप से जारी आदेश में कहा गया है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता अत्यंत महत्वपूर्ण है तथा सोशल मीडिया पर स्वतंत्रता के साथ ही जिम्मेदारी भी आवश्यक है।

आदेश में कहा गया है कि एडमिन वही बने जो उस ग्रुप की पूरी जिम्मेदारी उठाने में समर्थ हो और गु्रप के सभी सदस्यों से परिचित हो। कोई सदस्य गलत बयानी, बिना पुष्टि के समाचार जो अफवाह बन जाये, पोस्ट करता है तो एडमिन खंडन के साथ ऐसे सदस्य को फौरन गु्रप से हटाये। 

'मेरे पीरियड्स कोई लक्‍जरी हैं जेटली जी, जो हम टैक्‍स भरें', पढ़ें Tweets

अफवाह भ्रामक तथ्य व सामाजिक समरसता के विरूद्ध पोस्ट होने पर फौरन सम्बधित थाने को सूचित करे। गु्रप एडमिन के कार्रवाई न करने पर उन्हें भी इसका दोषी माना जायेगा और उन्के विरूद्ध भी कार्रवाई की जायेगी। ऐसे मामलों में कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.