28 से बदल जाएगा क्रिकेट, लागू होगें ये नए नियम

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। क्रिकेट को जेंटलमैन का खेल कहा जाता है लेकिन स्लेजिंग जैसी कुछ चीजों की वजह से क्रिकेट की सादगी और खेल के दौरान के रवैये  से लगातार सवाल खड़े होते रहे हैं।
अब इस खेल की सादगी को बनाए रखने के लिए आईसीसी क्रिकेट के नियमों में बदलाव लाने जा रहा है। आईसीसी द्वारा बनाए गए नियम 28 सितंबर से लागू होने जा रहे है।नए नियमों में बैट के डाइमेंशन और डीआरएस में भी बदलाव किए गए हैं। हालांकि फिलहाल चल रही भारत और ऑस्ट्रेलिया की सीरीज पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा। यह सीरीज पुराने नियमों के हिसाब से ही होगी।

Ind vs Aus-चौथे मैच पर मंडरा रहें संकट के बादल, रद्द हो सकता है बेंगलुरू वनडे

नए नियम जल्द ही होने वाले दो टेस्ट सीरीज में देखने को मिलेंगे।इनमें दक्षिण अफ्रीका में बांग्लादेश दौरा और यूएई में होने वाले पाकिस्तान और श्रीलंका के मैच हैं। इस बदलाव के बाद से एमसीसी लॉ ऑफ क्रिकेट से संबंधित धाराओं को शामिल किया गया है।

ईसीसी के जीएम ज्योफ एलरडाइस का कहना है कि गेंद और बल्ले के बीच संतुलन बनाने के लिए यह नए नियम बनाए गए हैं। उन्होंने कहा कि हमने एक 'एमसीसी द्वारा घोषित किए गए क्रिकेट के नियमों में हुए परिवर्तनों के परिणामस्वरूप आईसीसी के नियमों में ज्यादातर बदलाव किए गए हैं 'एमसीसी द्वारा घोषित किए गए क्रिकेट के नियमों में हुए परिवर्तनों के परिणामस्वरूप आईसीसी के नियमों में ज्यादातर बदलाव किए गए हैं। इसके मद्देनजर वर्कशाप के दौरान अम्पायरों को परिवर्तित नियमों के बारे में भी समझाया गया है।

टीम से बाहर होने पर जडेजा ने सोशल मीडिया पर शेयर की विवादित फोटो

उन्होंने जानकारी दी कि 'बल्ले की लंबाई और चौड़ाई में कोई बदलाव नहीं किया गया है, लेकिन बल्ले के ऐज की मोटाई 40 एमएम से ज्यादा नहीं होनी चाहिए और इसकी डेप्थ भी 67 एमएम से ज्यादा नहीं हो सकती। अम्पायरों को जल्द ही बेट के नाप के बारे में जानकारी दे दी जाएगी, ताकि वे बल्ले की वैधता जांच सकें।

खिलाड़ियों की बदसलूकी पर भी कसी जाएगी नकेल

खेल में सादगी और अच्छे व्यवहार के लिए खिलाड़ियों के लिए नए सख्त नियम बनाए गये हैं। इस दौरान अंपायर के साथ दुर्व्यवहार के लिए खेल के दौरान ही बीच मैदान से बाहर किया जा सकता है।

एलरडाइस ने बताया, 'अंपायर पर हमला करने के लिए धमकी देना, अंपायर के साथ अनुचित और जानबूझकर शारीरिक संपर्क बनाना, किसी खिलाड़ी या किसी अन्य व्यक्ति पर हमला करने और किसी भी अन्य हिंसा के कृत्य को चौथे स्तर के अपराधों में शामिल किया गया है।' 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr

ताज़ा खबरें