...जब Birthday Boy राहुल का नाम पिता रखना चाहते थे सुनील गावस्कर, पढ़े

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय क्रिकेट टीम के उभरते सितारे में से एक हैं लोकेश राहुल। केएल राहुल के नाम से फैंस के दिलों पर राज करने वाले इस स्टार का पूरा नाम कन्नूर लोकेश राहुल है। राहुल का जन्म 1992 का है। वह अपना 25वां जन्मदिन मना रहे हैं। के एल राहुल चोट के कारण आईपीएल से बाहर चल रहे हैं।

राहुल का बचपन
राहुल के  पिता डॉ. लोकेश एक बड़े एकेडेमिक होने के बावजूद भारतीय क्रिकेट के लिजेंड सुनील गवास्कर के बड़े फैन थे। जिस कारण वे अपने बेटे का नाम सुनील गवास्कर के बेटे के नाम पर रखना चाहते थे। पर उन्होंने गलती से रोहन के बजाय राहुल रख दिया। पर जब तक उन्हें अपनी गलती का अहसास हुआ, तब तक राहुल का बर्थ सर्टिफिकेट बन चुका था।पिता का क्रिकेट के प्रति जुनूनी दिवांगी का ही असर था कि राहुल बचपन से ही क्रिकेट के बड़े दीवाने थे।

बनना था इंजीनियर
वे इंजीनियर या डॉक्टर बन सकते थे, पर उन्होंने अपने बचपन के इंटरेस्ट क्रिकेट के साथ जीने का दृढ़ निश्चय किया। जिसके रिजल्ट को आप और हम अच्छी तरह से जानते है। राहुल ने अपनी अभूतपूर्व बैटिंग स्किल से वो कर दिखाया, जिसे भारतीय क्रिकेट के 40 वर्षों में कोई भी नहीं कर सका। 

जब राहुल द्रविड़ मुरीद हुए
एक दिन वह चिन्नास्वामी स्टेडियम में इसी केटेगरी से रिलेटिड़ मैच खेल रहे थे और वहाँ पहले से ही द इंडियन वाल राहुल द्रविड़ मौजूद थे।राहुल ने भी मौके पर चौका मारते हुए डबल सेंचुरी मार डाला। द्रविड़ बड़ा इम्प्रेस हुए और उनके कोच से कहा,इसका अच्छे से ख्याल रखना।

केएल राहुल ने रचा इतिहास
जिम्बाब्वे के खिलाफ अपना पहला वनडे खेलने केएल राहुल ने शतक जड़कर टीम इंडिया को जीत दिलाई। वह अपने पहले ही मैच में शतक बनाने वाले भारत के पहले बल्लेबाज बन गए हैं। इस तरह राहुल ने अपने नाम वनडे क्रिकेट का ऐसा रिकॉर्ड दर्ज कर लिया है, जोकि सचिन, गांगुली, द्रविड़ और कोहली जैसे दिग्गज बल्लेबाज भी नहीं कर पाए हैं। केएल राहुल से पहले वनडे डेब्यू में सबसे ज्यादा स्कोर बनाने का रिकॉर्ड रॉबिन उथप्पा के नाम दर्ज था, जिन्होंने 2006 में इंग्लैंड के खिलाफ 86 रन की पारी खेली थी।अपने पहले ही वनडे मैच में हाफ सेंचुरी बनाने वाले भी राहुल दूसरे भारतीय ओपनर हैं. यह कारनामा करने वाले पहले बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा थे।

199 में पर हुए आउट
केएल राहुल इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में 199 रन पर आउट हुए थे। लोकेश राहुल (199) की शानदार शतकीय पारी की बदौलत भारतीय टीम पूरे दिन इंग्लैंड पर हावी रही और अब पहली पारी के आधार पर मेजबान सिर्फ 86 रन दूर रह गए हैं।राहुल दिन के आखिरी विकेट के तौर पर पवेलियन लौटे। वह बेहद दुर्भाग्यशाली रहे और मात्र एक रन से दोहरे शतक से चूक गए. हालांकि उन्होंने अपने टेस्ट करियर का सर्वोच्च स्कोर हासिल किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr

ताज़ा खबरें