Monday, Jan 22, 2018

रूस का डोजियर विपक्षियों का ‘फर्जी दस्तावेज’ : ट्रम्प

  • Updated on 1/12/2017

Navodayatimesनई दिल्ली (टीम डिजिटल) : अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने रूस के पास उनके खिलाफ संवेदनशील सूचनाएं होने संबंधी मीडिया के दावों को ‘‘बेहूदा’’ बताकर उसे खारिज किया और कहा कि इसे संभवत: अमेरिकी खुफिया एजेंसियों ने लीक किया होगा और यदि उन्होंने ऐसा किया है तो उनकी रेकार्ड पर यह ‘‘बड़ा धब्बा’’ होगा।

छह महीने में अपने पहले औपचारिक संवाददाता सम्मेलन में ट्रम्प ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि यह कलंक होगा, यदि सूचना को सार्वजनिक किया जाता है। मैंने सूचना देखी है, मैंने सूचना उस बैठक के बाहर पढ़ी थी।’’रूस के पास उनके खिलाफ संवेदनशील सूचनाएं होने संबंधी आरोपों के डोजियर, निर्वाचित राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘यह फर्जी खबर है। यह जाली दस्तावेज है। ऐसा कभी नहीं हुआ।’’

विदाई भाषण में ओबामा ने कुछ यूं कि मिशेल की तारीफ, भर आईं सबकी आंखें

उन्होंने यह माना कि डेमोक्रेटिक पार्टी के कंप्यूटरों को हैक करने में रूस और कुछ अन्य देशों का हाथ था। अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण करने से महज नौ दिन पहले किए गए अपने बहु-प्रतिक्षित संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा, ‘‘जहां तक हैकिंग का सवाल है, मुझे लगता है यह रूस का काम है, लेकिन मुझे ऐसा लगता है कि कुछ अन्य देशों ने भी हैकिंग की है।’’

ट्रम्प ने कहा, ‘‘डीएनसी हैकिंग के लिए पूरी तरह खुला हुआ था। उन्होंने बहुत ही खराब तरीके से काम किया।’’ उन्होंने कहा कि रिपब्लिकन नेशनल कमेटी को हैक करने के प्रयास विफ रहे और ‘‘उन्हें सफलता नहीं मिली।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.