US के पूर्व सीनेटर ने कहा, भारत- अमेरिका मिलकर तबाह करें PAK के परमाणु केंद्र

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। अमेरिका के पूर्व सीनेटर लैरी प्रेस्लेर ने चौकने वाली बात कही है। पूर्व सीनेटर ने कहा कि भारत और अमेरिका को मिलकर पाकिस्तान के परमाणु हथियारों को नष्ट कर देना चाहिए। पाकिस्तान में रखे हुए परमाणु हथियार कभी भी आतंकवादियों के हाथ लग सकते हैं। प्रेस्लेर ने पाकिस्तान की निंदा की है। उन्होंने बताया कि पाकिस्तान ने जब परमाणु बम बनाया था तो उन्होंने इसका काफी विरोध किया था। इसके चलते प्रेस्लेर की काफी आलोचना भी हुई थी। 

पाक की नापाक हरकतों से परेशान हो अफगानिस्तान भी उतरा विरोध में, कहा...

गौरतलब है कि अंग्रेजी अखबार को दिये इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का पाकिस्तान के खिलाफ सख्त रवैया  जायज है। क्योंकि ट्रम्प भारत के लिए अभी तक सबसे लाभदायक राष्ट्रपति हो सकते हैं, चूँकि उन्होंने पाकिस्तान को आतंकवादियों को पनाह देने वाला देश करार दिया है। 

यूएस के पूर्व सीनेटर लेरी प्रेसलर ने पाकिस्तान पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि पेंटागन का प्रोत्साहन पाकिस्तान को बढ़ावा देता है। ट्रंप को उससे दूरी बनानी होगी। पाकिस्तान ने भारत को आतंकियों की मां कहा था। लेरी ने कहा कि ट्रंप का पेंटागन को दलदल बताना एक अच्छा संकेत है। मुझे उम्मीद है वह जल्दी ही इससे पलायन करेंगे। 

पूछताछ में खुलासा! जाकिर नाइक को पैसे देता था डॉन दाऊद

उन्होंने भारत को  सुझाव देते हुए कहा कि  भारत को और यूएस को साथ मिलकर पाकिस्तान के अंदर हमले करने चाहिये और पाक के परमाणु हथियारगृहों को नष्ट कर देना चाहिये। लैरी ने कहा कि उन्होंने कहा, ‘अमेरिका को पाकिस्तान को एक आतंकवादी देश करार दे देना चाहिए। 

बता दें कि अमेरिका के पूर्व सीनेटर लैरी प्रेस्लेर ने 90 के दशक में अमेरिका के रक्षा मंत्री में अहम् सदस्य थे।  उन्होंने 2 बार मेंबर ऑफ हाउस का प्रतिनिधित्व किया है।  उन्होंने बताया कि पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज बुश पाकिस्तान के पक्ष में थे और उन्ही के द्वारा आर्थिक सहायता देने पर पाकिस्तान ने परमाणु हथियार बनाये थे।

अटल बिहारी वाजपेयी से 3 गुना ज्यादा बार लिया गया PM मोदी का नाम

भारत एक लोकतांत्रिक देश है लेकिन पाकिस्तान के साथ ऐसा नहीं है। पाकिस्तान और आईएसआई ने दशकों से हमसे झूठ बोला है। उन्होंने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि मोदी सरकार की पाक को लेकर नीतियां कठोर हैं। उन्होंने कहा कि अगर अमेरिका पाकिस्तान को मदद देना बंद कर देता है तो वह परमाणु हथियार विकसित नहीं कर पायेगा। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr