अखिलेश के ड्रीम प्रोजेक्ट पर योगी सरकार का हथौड़ा, एक्सप्रेसवे के जांच के लिए आदेश

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। योगी सरकार ने अखिलेश सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट को कठघरे में खड़ा कर दिया है। योगी ने  आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस की जांच के आदेश दिए हैं। दस जिलों के डीएम को योगी ने इस बार में चिट्ठी लिखी है।

सभी को आदेश दिया गया है कि वो पिछले 18 महीने में हुए जमीन खरीद के हर मामले की जांच करें और सीएम को उसकी रिपोर्ट पेश करें। 230 गांब अब इस जांच के दौरान आएंगे जो  एक्सप्रेस के किनारे बसे हुए हैं।

इस्तीफा के बाद राहुल गांधी पर सवाल उठाना पड़ा महंगा,पार्टी से 6 साल के लिए मिला निकाला

आरोप ये भी है कि कुछ लोगों ने खेती वाली जमीन को पैसों के लिए रिहाइशी जमीन की श्रेणी में दिखाया हैताकि उनको जमीन के बदले सरकार से मुआवजा मिल सके।  योगी सरकार ने इस एक्सप्रेस वे के सर्वे के लिए सरकारी सर्वे एजेंसी आरआईटीईएस से संपर्क किया है।

औरंगाबाद-हैदराबाद पैसेंजर ट्रेन पटरी से पलटी, कोई हतातह नहीं

चुनाव से पहले  लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस सुर्खियों में छाया हुआ था। जहां अखिलेश सरकार इसे अपनी बड़ी उपलब्धि बता रही थी, वहीं विपक्ष इसमें घोटाले का आरोप लगा रहा था। अखिलेश ने विधानसभा चुनावों के दौरान चुनाव प्रचार के वक्त कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी अगर इस एक्सप्रेस वे पर चलेंगे तो वह भी सपा को ही वोट देंगे।  लेकिन अब योगी सरकार के इस फैसले से अखिलेश सरकार पर सवाल खड़े होने लगे हैं।

 

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr