गर्मी में डियो का इस्तेमाल करने से पहले जान ले ये बातें

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। गर्मियों में पसीना आना तो आम बात है लेकिन हम सबसे ज्यादा जिस चीज से परेशान होते हैं वह है पसीने से आने वाली बदबू। पसीना आने का फायदा भी है। गर्मी में पसीना आने से तपती गर्मी से हमारे शरीर को ठंडक मिलती है इसके साथ ही शरीर को तापमान भी बैलेंस्ड रहता है। तो ऐसे में पसीने से आने वाली बदबू को रोकने को एक ही उपाय है वह है डियोड्रेंट का इस्तेमाल।

 ‘खड़ूस’ बॉस के साथ काम करने से आपकी खुशी में हो सकता है इजाफा, पढ़ें पूरी रिपोर्ट

कुछ लोगों के पसीन से आने वाली बदबू का कारण हाइपरहाइड्रोसिस होता है। इसी के कारण पसीने से बदबू आने लगती है। 
इससे बचने के लिए लोग दिन में कई बार नहाते हैं डियोड्रेंट को भी इस्तेमाल करते है। कई लोग तो अंडरआर्म्स मे आने वाले पसीने को रोकने के लिए बोटाॅक्स को भी सहारा लेते है। इसमें पसीना आने वाली नब्ज को ही ब्लाॅक कर दिश जाता है। 
जिससे कुछ महिनो के लिए पसीने से छुटकारा मिल जाता है। लेकिन डियोड्रेंट को इस्तेमाल करते समय आपको कुछ बातो को रखना है खयाल। 

हानिकारक केमिकल से रखें दूरी 

कुछ डियोड्रेंट में काफी मात्रा में एल्काहल पाया जाता है इसके अलावा कुछ में एल्युमीनियम क्लाेराइड जैसे केमिकल पाये जाते है।जिससे स्किन में इरिटेशन होने लगती है।

पैराबींस 
पैराबींस एक केमिकल है जिससे स्तन कैंसर होने का ,खतरा होता है।ये बहुत काॅस्टली भी होता है। इस तरह के डियोड्रेंट में पैराबींस  प्राॅम्पलीन कृतिम कलर पाया जाता है जो स्किन के लिए खतरनाक हो सकता है। 

हार्ड स्मेल से रहे दूर
हार्ड स्मेल हर किसी को पसंद नहीं होती है।  ज्यादातर डियोड्रेंट में एल्कोहल के अलावा आॅलिव आॅयल होता है जो स्किन एलर्जी का कारण हो सकता हैं। इसकी जगह हल्के स्मेल वाले डियोड्रेंट को इस्तेंमाल कर सकते है।

गर्मियों को सुकूनदेह बनाने के लिए आलिया के टिप्स

डियोड्रेंट या एंटी पर्सपिरेंट 
जिन्हे ज्यादा पसीना और बदबू आती हाह वह डियोड्रेंट या एंटी पर्सपिरेंट का इस्तेमाल कर सकता  है। 
इनमें एंटीबैक्टीरियल तत्व पाया जाता है जो त्वचा पर बदबू पैदा करने वाले बैक्टीरिया पनपने से रोकता है। लेकिन जिन्हें अत्यधिक मात्रा में पसीना नहीं आता है लेकिन बावजूद इसके वे पसीने की बदबू से परेशान हैं तो उन्हें डियोड्रेंट अपनाना चाहिए।

स्टिक और स्प्रे
हर किसी की अपनी पसंद और जरुरत होती है और वे इसी के अनुसार अपनी पसंद का चुनाव करते हैं। कुछ लोग स्टिक डियोड्रेंट लेना पसंद करते हैं वहीं कुछ लोग स्प्रे का इस्तेमाल करना सही मानते हैं। स्टिक से कई बार कपड़ों में धब्बे लग जाते हैं लेकिन स्प्रे के साथ ये समस्या नहीं होती है। इसलिए अगर आप महंगी ड्रेस या डार्क कलर की ड्रेस पहन रहे हों तो स्टिक की जगह स्प्रे का इस्तेमाल करें। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr

ताज़ा खबरें