CBSE का निर्देश, स्कूल में अब नहीं बेची जाएेंगी किताबें-यूनिफॉर्म

Navodayatimes

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए एक कड़ा निर्देश जारी किया है। इस जारी होने के साथ ही अब स्कूल कैंपस में टेक्स्ट बुक्स, स्टेशनरी समेत अन्य किसी भी चीज को नहीं बेच सकेंगे। साथ ही बोर्ड ने कहा कि किसी चयनित विक्रेता से स्कूल कॉपी-किताबें खरीदने के लिए भी बच्चों को मजबूर नहीं करेंगे।

यूपी: सोशल मीडिया पर महिला टीचर की ये तस्वीर हुई Viral

दबाव बनाने वाले पर होगी कार्रवाई

बोर्ड ने आदेश जारी करते हुए कहा कि स्कूल कैंपस में किताबें, यूनिफॉर्म, स्टेशनरी आदि खरीदने का दबाव बनाने वाले विद्यालयों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही उनकी मान्यता भी रद्द कर दी जाएगी।

आतंकियों के निशाने पर मोदी और योगी, लंदन में रची जा रही हत्या की साजिश !

शिकायत पर CBSE ने लिया संज्ञान

गौरतलब है कि इसे लेकर लगातार छात्र-छात्रों और उनके माता-पिता की तरफ ये यह शिकायत सुनने को मिल रही थी जिससे संज्ञान में लेते हुए CBSE ने यह निर्देश जारी किया है। इस निर्देश के साथ ही बोर्ड ने NCIRT टेक्स्ट बुक्स के इस्तेमाल पर जोर दिया है।

सेरेना विलियम्स घर जल्द आएगा नन्हा मेहमान, प्रेग्नेंसी की Photo पोस्ट कर की डिलीट

CBSE ने नियय का दिया हवाला

बोर्ड ने कहा कि CBSE की संबद्धता के नियम 19.1 में कहा गया है कि कंपनी अधिनियम 1956 की धारा 25 के तहत पंजीकृत सोसाइटी या ट्रस्ट या कंपनी को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि स्कूल का संचालन सामुदायिक सेवा के रूप में हो और कारोबार की तरह नहीं। स्कूलों में किसी भी रूप में व्यावसायिकता नहीं पनपे।

अजान विवाद पर ये बोले बॅालिवुड सितारे....

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने कहा है कि बोर्ड से संबद्ध सभी स्कूलों को 12 अप्रैल 2016 के उस परिपत्र का पालन करना चाहिए, जिसमें NCIRT और CBSE किताबों के इस्तेमाल के लिए कहा गया है।

 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr