4 करोड़ से बने इस प्लेन को 6 साल बाद मिली उड़ान भरने की इजाजत

4 करोड़ से बने इस प्लेन को 6 साल बाद मिली उड़ान भरने की इजाजत

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। डीजीसीए ने देश मे बने पहले 6 सीटर विमान को रजिस्टर कर दिया है। इस प्रक्रिया के बाद से विमान की परीक्षण उड़ान हो सकती है। इसके अलावा अब देश में स्वदेशी विमान बनाने के सपने का रास्ता भी खुल गया है।

इस विमान का नाम वीटीएनएमडी यानि विक्टर टैंगो नरेंद्र मोदी देवेंन्द्र रखा गया है। इस विमान के ऐसे नाम के पीछे कारण है कि इस कोशिश में विमान बनाने वाले को प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से मदद मिली थी।

अब स्कूल में पढ़ाना छोड़, टीचर करेंगे खुले में शौच करने वालों की फोटोग्राफी

मुंबई के रहने वाले कैप्टन अमोल यादव ने साल 2009 में ये विमान बनाया था। उन्होंने इसे कांदिवली में बिल्डिंग की छत पर ही बनाया था। इसे बनाने में लगभग 4 करोड़ खर्च आया था। ये 6 सीटों वाला हवाई जहाज है। साल 2016 में मुंबई में 'मेक इन इंडिया' के तहत उसे प्रदर्शित भी किया गया था। हालांकि उसे परीक्षण उड़ान की अनुमति साल 2011 से नहीं मिल रही थी।

हाफिज सईद से डरा पाक, अब सता रहा ऐसा डर

हाल ही में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के निवेदन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हस्तक्षेप किया तब जाकर इस विमान का रजिस्ट्रेशन हो सका। इसके चलते पायलट ने अपनी पूरी मेहनत दोनों के नाम समर्पित कर दी। कैप्टन बताते है ये कि प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की कोशिश का ही नतीजा है कि उनका सपना सच होने को है, इसलिए अपने विमान को दोनों का नाम दिया है। 

कैप्टन अमोल यादव ने कहा कि देश में बने विमान के रजिस्ट्रेशन का कोई नहीं था। इसके चलते जो काम तीन दिन में होना चाहिए था उसके लिए 6 साल लग गए। अब जल्द ही बाकी की प्रक्रिया पूरी करने के बाद परीक्षण उड़ान की इजाजत मिलते ही उनका विमान हवा में उड़ान भरेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr

ताज़ा खबरें