IPL में सट्टेबाजी: हर बॉल पर डब्बा बोलता है

Navodayatimesनई दिल्ली/दिनेश शर्मा।  आईपीएल मैच शुरू होते ही एक बार फिर नोएडा में सट्टेबाजों का नेटवर्क सक्रिय हो उठा है। मैच देश के किसी भी कोने पर हो रहे हों लेकिन नोएडा में मैच के दौरान फेंकी जाने वाली हर बॉल पर सट्टेबाजों का डब्बा (टीम पर लगने वाला भाव बताने वाला मोबाइल फोन) बोल रहा है।

IPL10 : हैदराबाद की जीत में चमके विलियमसन और धवन, दिल्ली को 15 रन से हराया

डब्बा से निकल रहे भावों पर चंद सेंकेडों में लाखों रुपए के वारे न्यारे हो रहे है। मैच के बाद हार जीत की रकम सट्टेबाजों के पंटर मैच पर दांव लगाने वालों से चंद घंटे बाद ही लेने व देने जा रहे है। सट्टेबाजी के इस खेल में नोएडा के छात्र से लेकर बड़े-बड़े कारोबारी व उनके घरानों के युवा शामिल है। 

आईपीएल के मैच जैसे-जैसे आगे बढ़ रहे है। शहर में सट्टेबाजों की सक्रियता बढ़ती जा रहा है। नोएडा के सेक्टर-18 में कई जगह सट्टे के रैकेट से जुड़े पंटर(एजेंट) हर बॉल पर बुकिंग कर उसे आगे दिल्ली, मुंबई, जयपुर, लुधियाना, कोलकता  के बड़े बुकियों तक पहुंचा रहे है। सेक्टर-18 में तमाम प्रापर्टी डीलर इन दिनों मोबाइल फोन पर ही हर बॉल पर सट्टा लगाने पर व्यस्त है।

वहीं सेक्टर-12, सेक्टर-50, हरौला, बरौला, सेक्टर-64,सेक्टर-65, सेक्टर-62 के अलावा कई और औद्योगिक सेक्टरों के आफिस में सट्टेबाजों के लिए पंटर बुकिंग कर रहे है। वहीं सेक्टर-8,9,10 की झुग्गियों में भी सट्टेबाजों का डब्बा जोर शोर से बोल रहा है। सूत्रों के मुताबिक इन झुज्गियों में डब्बा त्रिलोकपुरी दिल्ली के सट्टेबाजों के पंटरों ने दे रखे है। 

शाहरुख के भावनात्मक ट्वीट पर तेंदुलकर ने किया ये दार्शनिक ट्वीट...

  सटोरियों का डब्बा: सटोरियों की भाषा में उस मोबाइल फोन को डब्बा या लाइन कहते है। जिसमें केवल सुना जा सकता है। उस फोन से किसी को फोन नहीं किया जा सकता है। इसे सटोरियों अपने पंटरों को देते है। इसके अलावा सटोरियों उन बड़े खिलाडिय़ों को भी उपलब्ध कराते है।

जो लाखों रुपए का दांव हर मैच पर लगाते है। इन फोन के सभी डायल नंबरों पर क्विक फिक्स लगा कर उसे चिपका दिया जाता है। ताकि कोई उससे नंबर न डायल कर सके। इस डब्बे से हर बॉल पर भाव की आवाजे आती रहती हैं। अगर आप को उस भाव पर बुक कराना है तो सटोरियों द्वारा उपलब्ध कराए गए नंबरों पर फोन या एसएमएस या व्हाट्एसप कर सकते हैं।

एटीएस ने खेल बिगाड़ा
दो दिन पहले एटीएस ने अवैध रूप से इंटरनेट सेवाएं उपलब्ध कराने वाली कंपनियों के यहां छापेमारी की। जिसके चलते ममूरा, खोड़ा कॉलोनी, ग्रेटर नेाएडा, मोरना इलाके में हजारों इंटरनेट के कनेक्शन बंद हो गए। जिसमें से कई कनेक्शन सट्टेबाजों ने किराए पर कमरा लेकर अस्थाई रूप से बनाए गए ऑफिस के लिए ले रखे थे। अब कनेक्शन बंद होने से पिछले दो दिनों से उनकी बुकिंग पर भी इसका असर पड़ रहा है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr

ताज़ा खबरें