457 वीजा रद्द करने के बाद आस्ट्रेलिया ने कड़े किए नागरिकता कानून

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल।  आस्ट्रेलिया के नागरिकता कानूनों में बड़े बदलाव करते हुए देश के प्रधानमंत्री मैल्कम टर्नबुल ने नए प्रार्थियों के लिए कड़ी अनिवार्यताओं का खुलासा किया। इससे पहले विदेशी कर्मियों के लिए 457 वीजा कार्यक्रम रद्द किए गए थे। नए सुधारों के तहत, प्रार्थी कम से कम चार साल से स्थाई निवासी हो और वह आस्ट्रेलियाई मूल्यों को अपनाने को प्रतिबद्ध होना चाहिए। 

पेरिस में बंदूकधारी की गोलीबारी में एक पुलिसकर्मी की मौत, ISIS ने ली जिम्मेदारी

स्थाई निवासी होने संबंधी नई अनिवार्यता में मौजूदा अनिवार्यता से तीन साल अधिक समय है। संभावित नागरिकों को अंग्रेजी भाषा की परीक्षा पास करनी होगी जो ज्यादातर महिलाओं एवं बच्चों के सम्मान पर केंद्रित होगी। इसके अलावा इसमें बाल विवाह, महिला खतना और घरेलू हिंसा जैसे मामले भी होंगे।

नागरिकता परीक्षा में कोई प्रार्थी अधिकतम तीन बार अनुतीर्ण रह सकता है। फिलहाल, परीक्षा को लेकर इस प्रकार की कोई सीमा नहीं है। इसके अलावा नागरिकता परीक्षा में नकल या कोई अन्य फर्जीवाड़ा करने वाले प्रार्थी अपने आप ही अनुतीर्ण कर दिए जाएंगे।

ईरान को अलग-थलग करने की कोशिश में अमेरिका 

टर्नबुल ने इन बदलावों का जिक्र करते हुए कहा कि आस्ट्रेलियाई नागरिकता एक सौभाग्य की बात है जिसे लेकर आभारी होना चाहिए।  टर्नबुल ने कहा कि नागरिकता केवल उन लोगों को दी जाएगी जो आस्ट्रेलियाई मूल्यों का समर्थन करते हैं, देश के कानूनों का सम्मान करते हैं तथा और बेहतर आस्ट्रेलिया के लिए मिलकर योगदान देने की दिशा में कड़ी मेहनत करना चाहते हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr

ताज़ा खबरें