एक एेसा गांव, जहां कोई नहीं ब्याहना चाहता अपनी बेटी

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लगातार विकास की बातें कर रहे हैं। राज्य में विकास के लिए तरह-तरह की योजनायें बनाई जा रही हैं। लेकिन इस सबके बावजूद बिहार में एक ऐसा गांव भी है जहां नीतीश कुमार का यह विकास अभी नहीं पहुंचा है, उनकी योजनाएं विफल है यहां पर। गांव की हालात इस कदर खराब है कि कोई भी बाप अपने बेटी की शादी यहां के लड़को के साथ नहीं करना चाहता है।

खूंखार आतंकवादियों से लेकर बदमाश तक हैं यहां बंद, दर्जनभर CCTV कैमरों से हो रही है सुरक्षा

जी हां कैमूर पहाड़ी पर बसा अधौरा के बडवान कला को कुंवारों के गांव के नाम से जाना जाता है। इस गांव में 200 से अधिक कुंवारे युवक हैं। यहां पर कितने सारे लोग ऐसे भी है जिनकी बिना शादी के ही मौत हो चुकी है। कुछ युवक ऐसे हैं जो अपने लिए पैसे से दुल्हन खरीद लाए हैं। पैसों के अभाव में कई युवकों की शादी रुकी हुई है। 

जिला मुख्यालय से 30 किलोमीटर की दूरी पर कैमूर पहाड़ी पर बसा अधौरा के बडवान कला तक पहुंचने के लिए 6 किमी पहाड़ी की चढ़ाई और चार किमी समतल जंगल पार करना होता है। मीडिया टीम गांव पहुंचकर लोगों की समस्या से रूबरू हुई। गांव में सड़क, पानी, बिजली की कोई सुविधा नहीं है, जिसके कारण कोई यहां अपनी बेटी का रिश्ता नहीं करना चाहता हैं। 

देवरानी को बचाने के लिए तेंदुए से भिड़ गई जेठानी

चुनाव के वक्त नेता बड़े-बड़े वादे करते हैं लेकिन होता कुछ नहीं है, चुनाव समाप्त होते ही वे ऐसे गायब होते है कि जैसे वे यहां कभी आये ही नहीं थे। गांव के लोगों का कहना है कि गांव में आने के लिए पहाड़ चढ़ना पड़ता है। इस वजह से कोई भी अपनी बेटी की शादी नहीं करना चाहता है।  

यही वजह है कि यहां बहुत से लोग कुंवारे हैं। जिनके पास पैसे हैं वह अपने लिए दुल्हन खरीद कर लाते हैं, जिससे उनका वंश चलता है। गांव में कुंवारे युवक आज भी आस लगाए बैठे हैं कि कोई रिश्ता लेकर आएगा। इसी आस में कितने कुंवारों की मौत हो चुकी है। 

इसी गांव की रहने वाली जानकी देवी कहती हैं कि मेरे घर में तीन लड़के और दो लड़की हैं। उनकी शादी के लिए काफी परेशान हूं लेकिन कोई रिश्ता नहीं करना चाहता है। गरीबी के कारण पैसे भी नहीं हैं कि दुल्हन खरीदा जाए। सड़क भी बनने के आसार नहीं दिखते क्योंकि कैमूर पहाड़ी पर वन सेंचुरी अधिनियम लागू है। इस वजह से सरकार की कोई योजना इस गांव तक नहीं पहुंच पाती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr