इस शहर में हैं बेवकूफ होटल, जानें - आखिर कैसे बन गया ये एक ब्रांड

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। बेवकूफ शब्द से सबको कितनी नफरत होती है यह जानने के लिए आप किसी को बेवकूफ कहकर देख सकते हैं। लेकिन हैरत वाली बात तो यह है कि झारखंड के गिरिडीह में बेवकूफ नाम से एक नहीं बल्कि कई होटल है। 70 के दशक में यहां बेवकूफ नाम का पहला होटल खोला गया था। तो आखिर इन होटलों को नाम बेवकूफ ही क्यों पड़ा? 

OMG! पानी की कमी हुई तो महिला ने खोद डाला 60 फीट का कुआं

आपको बता दें कि यहां गोपीराम नाम का एक व्यक्ति रहता था उसने फुटपाट पर एक होटल खोला। यहां  मात्र 40 पैसे में लोगों को दाल, रोटी, चावल और सब्जी खिलाया जाता था। उस समय गोपीराम के इस होटल के बारे में कोई नहीं जानता था। यह होटल कचहरी के पास था तो दोपहर को खाना खाने वालों की भेड़ लग जाती थी। खाना खाने के बाद बहुत से लोग बिना पैसे दिये ही चले जाते थे आैर बाहर जाकर गोपीराम को मजाक उड़ाते थे कि बेवकूफ है लोगों से पैसे ही नहीं ले पाता है।

 OMG! बच्चे पैदा करने की उम्मीद से गए थे अस्पताल, बन आए जुड़वा भाई-बहन

जब इस बात को पता गोपी राम को चला तो गोपीराम ने अपने होटल के बाहर बेवकूफ नाम को साइनबोर्ड लगा दिया। इस नाम को लोगों ने बहुत पसंद किया और ज्यादा से लोग यहां आने लगे और देखते ही देखते यह होटल प्रसिद्ध हो गया और आज बेवकूफ एक ब्रांड बन चुका हैं सोशल मीडिया पर भी बेवकूफ होटल के साइनबोर्ड की तस्वीर अक्सर वायरल होती रहती है जिससे देश के दूसरे हिस्सों में भी लोग इसके बारे में जानने लगे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

FacebookGoogle+TwitterPinterestredditDigglinkedinAddthisTumblr