Tuesday, Feb 20, 2018

FDI के लिए  इम्पोर्टेंट डेस्टीनेशन बन रहा है भारत

  • Updated on 4/20/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल।  भारत युवा कुशल कार्यबल, उच्च वृद्धि दर तथा सरकार द्वारा विभिन्न क्षेत्रों को नियंत्रण मुक्त किए जाने से विदेशी निवेश के लिए एक इम्पोर्टेंट डेस्टीनेशन (महत्वपूर्ण गंतव्य) बनने को पूरी तरह तैयार है। यह बात अमेरिका के पूर्व शीर्ष व्यापार अधिकारी ने कही।

अब सिर्फ 2862 रुपए में बनवा सकेंगे वसीयत

ओबामा प्रशासन में कार्यवाहक उप अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि रहीं वेंडी कटलर ने कल वाशिंगटन में कहा, ‘‘युवा कार्यबल, उसकी वृद्धि दर जिसके आने वाले वर्ष में चीन से ऊपर निकलने की उम्मीद है, बाजार को खोलना तथा विभिन्न क्षेत्रों को नियंत्रण मुक्त करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो कदम उठाए हैं।

 उससे निश्चित रूप से दक्षिण एशियाई देश विदेशी निवेश के लिए महत्वपूर्ण गंतव्य बनेगा। प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफ.डी.आई.) भरोसा सूचकांक जारी किए जाने के मौके पर एक परिचर्चा में उन्होंने कहा कि मोदी की अगुवाई में भारत विदेशी निवेशकों के लिए एक पसंदीदा गंतव्य के रूप में उभरा है।

इंतजार खत्म, Xiaomi Mi6 स्मार्टफोन हुआ लॉन्च, जाने इसकी खासियत

लगातार दूसरे वर्ष भारत सूचकांक में शीर्ष 10 देशों में शामिल है। इस साल भारत 8वें स्थान पर है जबकि पिछले साल 9वें स्थान पर था। सूचकांक में चीन खिसक कर तीसरे स्थान पर आ गया है। वहीं जर्मनी एफ.डी.आई. भरोसा सूचकांक में दूसरे स्थान पर आ गया है। उन्होंने कहा कि शीर्ष 10 देशों में 5 एशिया से हैं। एशिया में निवेश के अवसरों की काफी उम्मीदें हैं। ये उम्मीदें न केवल एशियाई निवेशकों में बल्कि वैश्विक निवेशकों में भी हैं। स्पष्ट तौर पर चीन और भारत उम्मीद की एक बड़ी वजह है। भारत सूचकांक में 8वें स्थान पर आ गया है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.