Friday, May 20, 2022
-->
anti-inflammatory-drugs-may-weaken-immunity-to-covid-vaccine-study-claims-djsgnt

सूजन रोधी दवाओं से कोविड टीके के लिए प्रतिरक्षा क्षमता कमजोर हो सकती है, अध्ययन में दावा

  • Updated on 6/3/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। एक अध्ययन के अनुसार, कुछ लोग जो रुमेटाइड गठिया जैसे विभिन्न सामान्य प्रतिरक्षा प्रणाली वाले विकारों के इलाज के लिए मेथोट्रेक्सेट लेते हैं, उनमें कोविड-19 टीके के लिए प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया कमजोर हो सकती है।

‘एनल्स ऑफ द रूमेटिक डिजीज’ नामक पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन में यह जानकरी दी गयी है। अध्ययन के अनुसार फाइजर-बायोएनटेक एमआरएनए कोविड-19 टीके के प्रति मरीजों की प्रतिक्रियाओं पर विशेष रूप से ध्यान दिया गया और अनुसंधानकर्ताओं ने प्रत्येक रोगी में टीके से बने एंटीबॉडी की माप की। शरीर में टीका लगने के बाद एंटीबॉडी बनने लगती हैं।

हालांकि, अमेरिका में एनवाईयू ग्रॉसमैन स्कूल ऑफ मेडिसिन और एनवाईयू लैंगोन हेल्थ के अनुसंधानकर्ताओं ने आगाह किया कि मेथोट्रेक्सेट लेने वाले रोगियों में कम एंटीबॉडी बनने का मतलब यह नहीं है कि ऐसे मरीज कोविड से सुरक्षित नहीं हैं।

अध्ययन की सह-लेखक रेबेका हैबरमैन ने कहा, यह बताना सबसे अहम है कि रोगियों को हमारे अध्ययन के निष्कर्षों को लेकर ङ्क्षचतित नहीं होना चाहिए क्योंकि प्रतिरक्षा प्रणाली विकार वाले अधिकतर रोगी एमआरएनए टीकों पर अच्छी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।Þ उन्होंने कहा कि यह भी संभव है कि मेथोट्रेक्सेट कोविड-19 के खिलाफ पर्याप्त प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को रोकने के बदले देरी कर रहा है।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.