Sunday, Feb 23, 2020

‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ की फर्जी योजना से शहर में अफरा-तफरी

  • Updated on 2/7/2017

Navodayatimes

 नई दिल्ली/ब्यूरो। केंद्र सरकार की ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ योजना के नाम पर फर्जी फॉर्मों की बिक्री की वजह से सोमवार को शहर में दिनभर अफरा-तफरी का माहौल रहा। सैकड़ों की संख्या में अभिभावक सोमवार को डाकघरों में फर्जी आवेदन पत्रों को जमा कराने पहुंच गए।  

हादसे के समय ऑडी में मौजूद थे डॉक्टर , प्रार्थना पत्र देने आए कोर्ट

डाक विभाग के अधिकारियों ने फॉर्म को फर्जी बताकर रजिस्ट्री करने से इंकार कर दिया। इसके बाद डाकघरों में जमकर हंगामा मचा। स्थिति बिगडऩे पर पुलिस को हल्का लाठीचार्ज करना पड़ा। यही नहीं फ्लैग मार्च निकाल कर भीड़ को तितर-बितर किया गया।  

लोग अपनी बेटियों के नाम ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ योजना के अंतर्गत प्रधानमंत्री की ओर से बेटियों को दो-दो लाख रुपए मिलने के लालच में सैकड़ों रुपए खर्च कर फार्म भरकर महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, भारत सरकार शास्त्री भवन नई दिल्ली के नाम रजिस्ट्री और साधारण पोस्ट से लिफाफे में कई दिनों से भेज रहे हैं। हालाकि इस योजना में नकद प्रोत्साहन का कोई प्रावधान नहीं है। 

सोमवार को यह अफवाह उड़ी की आज आवेदन करने की अंतिम तिथि है। इसके बाद सैकड़ों की संख्या में लोग फॉर्म जमा करने के लिए शहर के डाकघरों में पहुंचने लगे। दोपहर बारह बजे तक तो डाकघर में अधिकारियों ने रजिस्ट्री की, मगर बाद में यह पता चला कि केंद्र सरकार की ऐसी कोई योजना ही नहीं है। इसके बाद नवयुग मार्केट स्थित मुख्य डाकघर के अधिकारियों ने फॉर्म को जमा करने से मना कर दिया।

इसके बाद सभी डाकघरों में अफरा-तफरी मच गई। नवयुग मार्केट स्थित मुख्य डाकघर में भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को फ्लैग मार्च करना पड़ा। वहीं, बजरिया स्थित डाकघर में भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज तक किया। 

ऑनर किलिंग : बाप ने घोंटा बेटी का गला , पुलिस ने किया गिरफ्तार

सोमवार को इस फर्जी आवेदन की अंतिम तिथि होने की वजह से शहर में कई फोटोस्टेट की दुकानों पर काफी भीड़ लगी रही। इस मौके को भुनाने के लिए दुकानदारों ने 50 से 100 रुपए तक में फॉर्म को बेचा। लोगों से फ ोटो व फ ॉर्म कंप्लीट करने की एवज में भी मोटी रकम दुकानदारों ने वसूली। 

फार्म में ये लिखा है: इस फॉर्म में लिखा गया है कि प्रधानमंत्री ने ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ योजना की शुरुआत की है। इस योजना में 8 से 32 वर्ष की सभी बेटियों को प्रधानमंत्री की ओर से दो-दो लाख रुपए मिलेंगे। 

फॉर्म में लड़की के पूरे ब्योरे के साथ बैंक एकाउंट नंबर भी मांगा गया है तथा फॉर्म को ग्राम प्रधान या पालिका चेयरमैन द्वारा प्रमाणित कराने की बात भी लिखी है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.