Saturday, Nov 17, 2018

खुलासा: 4 इंजीनियरिंग छात्रों ने दिया मकसूदां हमले को अंजाम, आतंकी मूसा ने करवाया था ब्लास्ट

  • Updated on 11/6/2018

नई दिल्ली/रविंदर। मकसूदां थाने पर हमला इंजीनियरिंग के छात्रों ने ही अंजाम दिया था। अंसार गजवत-उल-हिंद के कमांडर कुख्यात आतंकी जाकिर मूसा ने जालंधर को दहलाने की साजिश रची थी। इसी तहत मकसूदां थाने पर हैंड ग्रेनेड से हमला किया गया था।

पुलिस ने जालंधर के सेंट सोल्जर ग्रुप के 2 कश्मीरी छात्रों को मकसूदां थाने पर हमला करने के मामले में गिरफ्तार किया है जबकि इनके 2 अन्य साथी अभी पुलिस की गिरफ्त से दूर हैं। फरार दोनों आतंकियों की गिरफ्तारी के लिए पंजाब पुलिस के अधिकारी जे. एंड के. पुलिस व इंटैलीजैंस की मदद लेंगे। 

गौर हो कि 14 सितम्बर की रात तकरीबन 7.45 बजे मकसूदां थाने पर हमला किया गया था। थाने के बाहर से थाने के अंदर हैंड ग्रेनेड फैंके गए थे जिसमें 2 पुलिस कर्मी घायल भी हो गए थे। इस वारदात को अंसार गजवत-उल-ङ्क्षहद के 4 आतंकियों ने अंजाम दिया था। जाकिर मूसा के आदेश के बाद संगठन के डिप्टी कमांडर आमिर (दादा सारा त्राल, कश्मीर) ने ही मकसूदां थाने पर हमला करने के लिए इन चारों आतंकियों को ट्रेंड किया था।

आमिर ही कॉलेज स्टूडैंट्स को इस आतंकी संगठन में कार्य करने के लिए उकसाने का काम भी करता है। पकड़े गए दोनों आतंकी शाहिद क्यूम (22) और फैजल बशीर (23) जालंधर के सेंट सोल्जर कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टैक्रोलॉजी में बी.टैक. (सिविल) 7वें समैस्टर के छात्र थे जबकि  फरार दोनों आतंकी मीर रऊफ रमजान उर्फ रऊफ और मीर उमर रमजान उर्फ गाजी इस संगठन के कुख्यात व ट्रेंड आतंकी हैं और वे कश्मीर से इस वारदात को अंजाम देने के लिए आए थे।

14 सितम्बर की रात को चारों आतंकियों ने मिलकर मकसूदां थाने पर हैंड ग्रेनेड से हमला किया था और आसानी से वारदात को अंजाम देने के बाद बस अड्डे पहुंच गए थे। जहां से गाजी व रऊफ जम्मू की बस पकड़ कर फरार हो गए थे। इस पूरी वारदात को अंजाम देने से पहले शाहिद ने एक काले रंग का पल्सर बाइक भी खरीदा था जिस पर पूरे इलाके की रेकी की गई थी। 

डी.जी.पी. सुरेश अरोड़ा ने बताया कि फैजल बशीर को पंजाब पुलिस ने अवंतीपोरा (कश्मीर) से 3 नवम्बर को जबकि शाहिद क्यूम को जालंधर पुलिस ने 4 नवम्बर को जालंधर से गिरफ्तार किया। वारदात के बाद से ही थाना डिवीजन नंबर-1 में चल रही एफ.आई.आर. धारा-307, 427, 120-बी आई.पी.सी. और 3,4,5 एक्सप्लोसिव एक्ट में इनको नामजद कर लिया गया है।

पंजाब पुलिस की एक विशेष टीम को फरार गाजी व रऊफ की गिरफ्तारी के लिए जे. एंड के. रवाना कर दिया गया है जहां जे. एंड के. पुलिस के साथ वह संयुक्त ऑप्रेशन चलाएगी। 

कई थानों व पुलिस पार्टी पर हमला करने की भी थी योजना
अंसार गजवत-उल-ङ्क्षहद के ट्रेंड आतंकियों का टारगेट अकेला मकसूदां थाना नहीं था बल्कि इस संगठन के कमांडर जाकिर मूसा ने पंजाब के कई थानों व पुलिस पार्टी पर हमला करने की योजना भी तैयार की थी और मकसूदां थाने के बाद उन्हें इस टारगेट में झोंका जाना था।

पुलिस कमिश्रर गुरप्रीत सिंह भुल्लर का कहना है कि यह संगठन पंजाब में कई थानों पर हमले व पुलिस पार्टी पर हमला करने की योजना पर काम कर रहा था। 

डी.जी.पी. ने स्टूडैंट्स को किया आगाह 
डी.जी.पी. सुरेश अरोड़ा का कहना है कि जिस तरह से कश्मीरी स्टूडैंट्स का आतंकी गतिविधियों में हाथ सामने आ रहा है, वह बेहद ङ्क्षचता का विषय है।

उन्होंने कश्मीरी स्टूडैंट्स को आगाह किया कि वे देश विरोधी ताकतों के हाथ में चढ़कर देश विरोधी गतिविधियों में शामिल न हों। विदेश में बैठी ताकतें पंजाब को कमजोर करने के लिए राज्य को दोबारा आतंकवाद की आग में झोंकना चाहती हैं।

 

ठ्ठ जाकिर मूसा ने रची थी जालंधर को दहलाने की साजिश ठ्ठ सेंट सोल्जर ग्रुप के 2 कश्मीरी छात्र मकसूदां बम कांड में अरैस्ट 

ठ्ठ 4 आतंकियों ने दिया था वारदात को अंजाम, 2 फरार
ठ्ठ जे. एंड के. पुलिस व इंटैलीजैंस का साथ लेगी जालंधर पुलिस 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.