Tuesday, Jun 22, 2021
-->
4 people including deep sidhu declared reward of rs 1 lakh sohsnt

Tractor rally violence: दीप सिद्धू समेत 4 लोगों पर 1-1 लाख रुपए का इनाम घोषित

  • Updated on 2/3/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। गणतंत्र दिवस (Republic Day) पर किसानों की ट्रैक्टर रैली (Tractor rally) के दौरान लाल किले पर हुई हिंसा के आरोपी पंजाब के एक्टर दीप सिद्धू (Deep Sidhu) की अभी तक गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। ऐसे में अब दिल्ली पुलिस ने फरार चल रहे एक्टर सिद्धू की जानकारी देने वाले को 1 लाख रुपए का इनाम देने की घोषणा की है। 

दीप सिद्धू ने अपने नए वीडियो में सनी देओल पर लगाया लोगों को धोखा देने का आरोप


इन आरोपियों के नाम भी शामिल
दिल्ली पुलिस ने दीप सिद्धू के अलावा, जुगराज सिंह, गुरजोत सिंह और गुरजंत सिंह की गिरफ्तारी की सूचना देने वाले को 1 लाख रुपये का नकद इनाम देने की घोषणा की, इसके अलावा जाजबीर सिंह, बूटा सिंह, सुखदेव सिंह और इकबाल सिंह की जानकारी देने वाले को  भी  50-50 हजार रुपये दिने की घोषणा की है।

दीप सिद्धू ने मांगा वक्त
बता दें कि लाल किले पर धार्मिक झंडा लगाने के मामले में आरोपी सिद्धू ने कहा कि उन्हें सच्चाई सामने लाने के लिए कुछ वक्त चाहिए और उसके बाद वह जांच में शामिल होंगे। धार्मिक झंडा लगाने के आरोप में सिद्धू के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने फेसबुक पर एक वीडियो पोस्ट कर कहा, 'मेरे खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया है और लुक आउट नोटिस भी जारी किया गया है। पहले तो मैं यह संदेश देना चाहता हूं कि मैं जांच में शामिल होऊंगा।' सिद्धू ने कहा कि सच्चाई सामने लाने के लिए उन्हें कुछ वक्त चाहिए। 

26 जनवरी से 1 सप्ताह पहले दीप सिद्धू ने फेसबुक लाइव पर कहा था- 'पिक्चर अभी बाकी है मेरे दोस्त'

मैंने कुछ गलत नहीं किया है- सिद्धू
सिद्धू ने कहा,'क्योंकि गलत सूचना फैलाई गई हैं और वह जनता को गुमराह कर रही हैं। इसलिए मुझे सच्चाई सामने लाने के लिए कुछ वक्त चाहिए और उसके बाद मैं जांच में शामिल होऊंगा।' वीडियो में कहा गया, 'जांच एजेंसियों से मेरा अनुरोध है, जब मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है, तो मैं क्यों भागूंगा और क्यों डरूंगा। मुझे भय नहीं है। मैंने कुछ गलत नहीं किया है और यह सामने आ जाएगा।' सिद्धू ने जांच एजेंसियों और पुलिस विभाग से कहा है कि वह दो दिन में उनके सामने पेश होंगे। उन्होंने कहा, 'जिस प्रकार की अफवाहें फैलाई जा रही हैं वह तथ्यों पर आधारित नहीं हैं। मुझे तथ्यों पर आधारित सच्चाई सामने लाने के लिए दो दिन चाहिए और मैं सारे साक्ष्य और सबूत एकत्र करूंगा।'

सिद्धू पर आंदोलन की छवि खराब करने का भी आरोप
गौरतलब है कि जिस समय लाल किले पर धार्मिक और किसान संगठनों के झंडे लगाए गए तब सिद्धू वहीं पर मौजूद थे। इस घटना के बाद जबरदस्त आक्रोश फैल गया था।  किसान संगठनों ने सिद्धू पर आंदोलन की छवि खराब करने का प्रयास करने का आरोप लगाते हुए उन्हें ‘‘गद्दार ’’ करार दिया है। सिद्धू ने अपने नए वीडियो में कहा,‘‘ सभी सूचनाओं पर गौर करने के बाद अब ऐसा लग रहा है कि यह फंसाने की एक चाल भी हो सकती है। यह दिल्ली पुलिस की या सरकार की चाल हो सकती है। यह फंसाने की चाल लग रही है।'

सिद्धू ने बताई पूरी बात
उन्होंने सिलसिलेवार ढंग से घटना की जानकारी देते हुए कहा, 'मैं अपने स्थान से सुबह करीब 10:45 बजे कार से निकला। उस वक्त जानकारी मिल रही थी कि लोग अपने आप रिंग रोड की ओर बढ़ रहे हैं और दिल्ली की ओर जा रहे हैं और उन्होंने दिल्ली पुलिस और सरकार के द्वारा बताए गए रास्तों का पालन नहीं किया।' उन्होंने दावा किया कि मुख्य रास्ता बंद होने के कारण वह गांवों से होते हुए गए और उस स्थान पर पहुंचे जहां अवरोधक टूटे हुए थे। सिद्धू ने कहा कि एक स्थान पर पुलिस ने यातायात रोका हुआ था और वे भी वहीं फंस गए थे। उन्होंने दावा कियाा कि पुलिस ने 'कमजोर' अवरोधक लगाए थे। फिलहाल, क्राइम ब्रांच की कई टीमें सिद्धू की तलाश में जुटी है पुलिस का कहना है कि उसे जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा।

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरेें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.