Monday, Aug 02, 2021
-->
4 students arrested in Kargil for blasting Israeli embassy musrnt

इजराइली दूतावास पर धमाका करने वाले 4 छात्र कारगिल से गिरफ्तार

  • Updated on 6/25/2021

नई दिल्ली/ कृष्णा कुणाल सिंह। राजधानी के अतिसुरक्षित माने जाने वाले एपीजे अब्दुल कलाम मार्ग पर स्थित इजराइल दूतावास के बाहर हुए विस्फोट के मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने चार छात्रों को गिरफ्तार किया है। इन छात्रों को इस विस्फोट के मामले में कथित तौर पर संदिग्ध माना जा रहा है।

इजरायली दूतावास के बाहर धमाका करने वालों की हुई पहचान, जाकिरनगर से था नाता

स्पेशल सेल ने केंद्रीय खुफिया एजंसी सीआइए और करगिल पुलिस के साथ की गई संयुक्त जांच के दौरान चारों छात्रों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान नाजिर हुसैन (26), जुल्फीकर अली वजीर (25), एज हुसैन (28) और मुजम्मिल हुसैन (25) के तौर पर की गई है। सभी छात्र गांव थांगए जिला करगिल लद्दाख के रहने वाले हैं। 

इजरायली दूतावास धमाका: CCTV में दिखी दो संदिग्धों की तस्वीर, 10 लाख के इनाम का ऐलान

दिल्ली पुलिस प्रवक्ता चिन्मय बिश्वाल ने बताया कि सभी आरोपियों को ट्रांजिट रिमांड पर दिल्ली लाया जा रहा है। दिल्ली में 29 जनवरी को इजराइली दूतावास के बाहर हल्की तीव्रता का एक आईईडी विस्फोट हुआ था। इसमें कोई हताहत नहीं हुआ था। पर कई वाहनों का इस विस्फोट की वजह से नुकासन पहुंचा था। पर अतिसुरक्षित माने जाने वाले इलाके में हुए धमका के बाद सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े हो गए थे।

Israeli Embassy Blast: बड़ी लापरवाही! बंद थे दूतावास के आसपास लगे CCTV कैमरे

इस मामले में सीआइए के अलावा दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने भी मामला दर्ज किया था। इसी बीच टीम को सूचना मिली कि संदिग्ध लद्दाख में छुपे हो सकते हैं। सूचना के आधार पर सीआइएए स्थानीय पुलिस और स्पेशल सेल की टीम ने छापामारी की और चारों छात्रों को गिरफ्तार कर लिया।

गृह मंत्रालय ने NIA को सौंपी इजराइल दूतावास विस्फोट मामले की जांच

एपीजे अब्दुल कलाम रोड पर 29 जनवरी की शाम लगभग 5 बजकर 5 मिनट पर बम धमाका हुआ था। घटना इजरायली दूतावास के एकदम नजदीक हुई थी। इसमें 3 कारों के शीशे फूट गए थे।

15 जून को सामने आया था CCTV फुटेज

विस्फोट मामले में दो संदिग्धों के सीसीटीवी फुटेज 15 जून को सामने आया था। फुटेज में एक शख्स ने हाथ मे एक फाइल और दूसरे ने एक बैग लिया हुआ था। सूत्रों के मुताबिकए संदिग्धों ने घटना वाले दिन जामिया नगर से ऑटो किया और फिर अब्दुल कलाम रोड पहुंचे। फिर विस्फोटक रखने के बाद ये दोनों ऑटो से अकबर रोड पहुंचे। यहां दोनों ने पहचान छिपाने के लिए जैकेट उतार दिया था।

comments

.
.
.
.
.