Sunday, Dec 04, 2022
-->
5-lakhs-charged-with-credit-card-accused-of-carrying-out-insider-trading-case

क्रेडिट कार्ड से उड़ाए 5 लाख, जानकार पर लगा वारदात को अंजाम देने का आरोप

  • Updated on 2/16/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। एक शख्स अपने जानकार के घर फोन भूल गया। जानकार से पूछा तो उसने फोन होने से इनकार कर दिया। फोन किया तो किसी ने  फोन उठा कर कहा कि उसे फोन गाजीपुर मुर्गा मंडी में पड़ा मिला है, आकर ले जाओ। पीड़ित रात को सुनसान इलाके से ले जाने को कहता था।

तीन दिन तक फोन उठाने वाला शख्स अलग-अलग जगह पर बुलाता रहा और खुद नहीं आया। आखिर तीन दिनों के बाद उसने फोन बंद कर दिया। जिसके बाद पीड़ित ने फोन बंद करवा दिया और नया सिम ले लिया, लेकिन तीन जनवरी को पीड़ित के क्रेडिट कार्ड का बिल आया तो उसके होश उड़ गए, उसके क्रेडिट अकाउंट से 5 लाख 78 रुपये की शॉपिंग की गई थी। पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।

आखिर कहां हुई सुरक्षा बलों से चूक...जानिए पुलवामा अटैक की पूरी कहानी

जानकारी के मुताबिक, मोहन दत्त शर्मा हाइवे अपार्टमेंट गाजीपुर में रहते हैं। उनके जानकार घड़ौली डेयरी फार्म इलाके में रहने वाले मनीष शर्मा का तीन दिसम्बर 2018 को फोन आया और घर आकर 80 हजार रुपये ले जाने को कहा। वह वहां पहुंचे और कुछ देर बातचीत करने के बाद वापस लौट गए।

उन्हें अहसास हुआ कि मोबाइल फोन नहीं है। वापस मनीष के घर गए तो उसके परिजनों ने बताया कि वह कहीं गया हुआ है। मनीष से बात कराई तो उसने मोबाइल फोन की जानकारी होने से इनकार कर दिया। मोहन ने अपने घर पहुंचने पर मां के फोन से रात 8 बजे कॉल किया तो एक शख्स ने पिक किया। उसने बताया कि फोन मुर्गा मार्केट में मिला है और आकर ले जाओ। रात होने की वजह वह नहीं गए।

महाराष्ट्र: पिता ने चुकाई बेटे की गलती की सजा, जहर खाकर की आत्महत्या

इसके बाद मोहन ने उससे घर आकर फोन देने की बात कही लेकिन वह नहीं आया। अगले दिन फि र फोन किया तो उसने 11 बजे गाजीपुर फ्लाईओवर पर आकर फोन ले जाने को कहा, पीड़ित इंतजार करते रहे लेकिन वह नहीं आया।

इसके बाद फोन स्विच ऑफ  हो गया। लेकिन शाम को कॉल किया तो फि र पिक किया और देर रात में गाजीपुर पेपर मार्केट से ले जाने को कहा गया। लेकिन 5 दिसम्बर को फोन बंद कर दिया गया।

तीन जनवरी को मोहन शर्मा के पास क्रेडिट कार्ड की स्टेटमेंट आई। इसे देखकर उनके होश उड़ गए, क्योंकि उससे 5 लाख 80 हजार रुपये की ऑनलाइन शॉपिंग की गई थी। मोहन दत्त का दावा है कि उन्होंने जब ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी से पता किया तो उसने बताया कि मनीष शर्मा ने यह शॉपिंग की है।

दिल्ली से गिरफ्तार हुए अवैध हथियारों के तस्कर, अपराधियों को किराए पर देते थे पिस्टल

पहले मामला पटपडग़ंज इंडस्ट्रियल एरिया पुलिस स्टेशन में गया था, जिसे बाद में गाजीपुर में शिफ्ट किया गया। शिकायतकर्ता पिछले एक महीने से मुकदमा दर्ज करने के लिए चक्कर काट रहे थे, पुलिस ने वीरवार को धारा 379 के तहत केस दर्ज कर लिया है।  पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.