Thursday, Jan 20, 2022
-->
5-officers-including-two-superintendent-arrested-in-tihar-jail-extortion-case

तिहाड़ जेल रंगदारी मामला दो सुपरिटेंडेट सहित 5 अधिकारी गिरफ्तार

  • Updated on 11/9/2021

तिहाड़ जेल रंगदारी मामला दो सुपरिटेंडेट सहित 5 अधिकारी गिरफ्तार
सुकेश चंद्रशेखर ने तिहाड़ जेल से वसूली थी देश की सबसे बड़ी रंगदारी 

 

नई दिल्ली, पंकज वशिष्ठ। तिहाड़ जेल में बंद होने के बाद देश भर में 200 करोड़ से अधिक की रंगदारी वसूलने वाले सुकेश चंदशेखर प्रकरण में  अर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्लू) ने तिहाड़ जेल के 5 शीर्ष अधिकारियों को गिर तार किया है। गिर तार होने वालों में सुनील कुमार और सुंदर वोहरा जेल सुपरिटेंडेंट है, जबकि महेन्द्र प्रसाद और प्रकाश चंद्र डिप्टी सुपरिटेंडेंट है।

इसके अलावा लक्ष्मी दत को भी गिर तार किया गया है। आर्थिक अपराध शाखा ने इन्हें मंगलवार को दिल्ली की पटियाला हाउस अदालत में पेश किया जहां कोर्ट ने इन्हें 12 नवंबर तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया।
इस संबंध में स्पेशल सीपी देवेश श्रीवास्तव ने बताया कि तिहाड़ जेल के ये अधिकारी जेल में बंद सुकेश चंद्रशेखर की मदद कर रहे थे और इनकी मदद से ही सुकेश चंद्रशेखर ने 200 करोड़ रुपए की उगाही की थी।

उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच में अब तक 12 लोग पहले भी गिरफ्तार किए जा चुके है और इसकी जांच अब ईडी भी कर रही है। उन्होंने कहा कि उनकी जांच में फोन सर्विलांस और मिले दस्तावेजों से पता कि जेल के ये पांचो अधिकारी सुकेश के साथी थे और उसके लिए लिए एक संगठित गिरोह की तरह काम कर रहे थे।
 

क्या है पूरा मामला
दिल्लीे पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने रोहिणी जेल मे बंद सुकेश चंद्रशेखर के खिलाफ धोखाधड़ी, रंगदारी और आपराधिक साजिश का एक मामला दर्ज किया था। उसके बाद उसे तिहाड़ जेल में भेज दिया गया। यह एफआईआर रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर की पत्नी की शिकायत पर दर्ज की गई थी। आरोप है वर्तमान कि तिहाड़ जेल में बंद सुकेश चंद्रशेखर ने जेल से  मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर स्नूपिंग करके कानून मंत्री के ऑफिस के नंबर से फोन करके रेलिगेयर के प्रमोटर से 200 करोड़ रुपए की रंगदारी वसूल की थी। सुकेश चंद्र शेखर जेल में बैठकर स्नूपिंग के जरिये बड़े बिजऩेस मैन की पत्ऩी से 200 करोड़ वसूला था।  
 

सुकेश चंद्रशेखर रंगदारी कॉड का खुलासा हुआ तो दंग रह गई एजेंसियां
बताया जाता है जेल में बंद सुकेश के नेटवर्क और उसके द्वारा रंगदारी मांगने की जांच को शुरु किया गया तो पुलिस अधिकारी समेत ईडी और सीबीआई भी दंग रह गई कि तिहाड़ जेल में बंद एक व्यक्ति कैसे पूरे देश में नेताओं,अधिकारियों और वॉलीवुड के लोगों से रंगदारी वसूल लेता था। 

बता दे कि सुकेश चंद्रशेखर को कथित रूप से दिनाकरण से पैसे लेने के आरोप में पकड़ा गया था। उस पर आरोप था कि वो चुनाव आयोग में संपर्क होने का दावा कर 50 करोड़ रुपये की डील करने की कोशिश कर रहा था. रिपोर्टों के मुताबिक, चंद्रशेखर का दावा था कि वो चुनाव आयोग के अधिकारियों को घूस देकर शशिकला खेमे को एआईएडीएमके के दो पत्तियों वाला चुनाव चिह्न दिला देगा। 2017 में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एक होटल में उसके कमरे से 1.3 करोड़ रुपये कैश भी बरामद किया था। जिसके बाद उसकी गिरफ्तारी की गई थी। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.