Monday, May 23, 2022
-->
99 lakh 30 thousand 500 cash recovered in fortuner car in noida

नोएडा में फॉच्र्यूनर कार में रखी 99 लाख 30 हजार 500 रूपए की नकदी बरामद

  • Updated on 1/18/2022

नई दिल्ली, टीम डिजीटल / नोएडा स्टेडियम के पास से एक फॉच्र्यूनर कार में रखी 99 लाख 30 हजार 500 रूपए की नकदी बरामद की है। चुनाव आचार संहिता का पालन कराने के लिए बनाई गई स्टेटिक टीम ने चेकिंग के दौरान यह रकम कार से बरामद की है। बरामद रकम व कार में सवार दो लोगों को पूछताछ के लिए थाना सेक्टर-24 में ले जाया गया। रकम की जानकारी पाकर आयकर विभाग के दो अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने कार सवार लोगों से रकम के बारे में जानकारी हासिल की। पूछताछ में पता चला कि रकम दिल्ली के अशोक विहार के गारमेंट एक्सपोर्टर आयुष जैन ने नोएडा में सेक्टर-24 थाना क्षेत्र की एक फैक्टरी में पहुंचाने के लिए दिया था।

आयकर विभाग के अधिकारियों ने आयुष जैन से फोन पर बातचीत करने का प्रयास किया लेकिन फोन रिसीव नहीं किया। वहीं रकम जिस फैक्टरी के कर्मचारी या अधिकारी को देने के लिए कहा गया था। उसका भी मोबाइल स्विच ऑफ आया। इसके बाद आयकर विभाग के अधिकारियों ने रकम को जब्त कर लिया और थाना पुलिस ने कार को सीज कर दिया। आयकर विभाग की टीम इस बड़ी रकम के बारे में अपने स्तर से जांच कर रही है कि यह रकम विधानसभा चुनाव में खपाने के लिए तो नोएडा नहीं भेजी गई है।
नोएडा जोन के एसीपी सेकेंड रजनीश वर्मा ने बताया कि चुनाव आचार संहिता का पालन कराने के लिए जिलाधिकारी गौतम बुद्ध नगर की तरफ से  कई स्टैटिक टीमें बनाई गई हैं।  यह टीमें चुनाव में धन का दुरुपयोग ना हो  इसका ध्यान रखते हुए चेकिंग कर रही है। उन्होंने बताया कि नोएडा स्टेडियम के पास मंगलवार सुबह एक फॉच्र्यूनर कार को चेकिंग के लिए रोका गया, कार वजीरपुर दिल्ली निवासी अखिलेश कुमार नामक युवक चला रहा था। बगल की सीट पर करोलबाग दिल्ली निवासी कंपनी में फील्ड मैनेजर भीमसेन नाम का व्यक्ति बैठा हुआ था। कार के अंदर पीछे की सीट के नीचे दो बड़े बैग में 99 लाख 30 हजार 500 रुपए नगद रखे थे। इस रकम के बारे में दोनों से पूछताछ की तो वह चुप रहे। केवल इतना बताया कि  यह पैसा दिल्ली के कपड़ा कारोबारी आयुष जैन नामक व्यक्ति का है। उसके कहने पर वह नोएडा की एक फैक्टरी में पैसा देने के लिए आ रहे थे। रकम की जानकारी आयकर विभाग को दी गई।

आयकर विभाग के दो अधिकारी थाना सेक्टर-24 पहुंचे और रकम के बारे में कार सवार दोनों लोगों से बातचीत की। रकम गिनने के लिए सेक्टर-52 स्थित एसबीआई बैंक से नोट गिनने वाली मशीन मंगवाई गई और मशीन से नोटों की गिनती हुई और इस दौरान विडियोग्राफी भी हुई। वहीं आयकर विभाग के अधिकारियों ने  कारोबारी आयुष जैन से भी फोन पर सम्पर्क किया लेकिन सम्पर्क नहीं हुआ। इसके बाद रकम व कार सीज कर दी गई। पुलिस ने कार सवार दोनों लोगों को उनके परिजनों को बुला कर उनकी सिपुर्दगी में दे दिया।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.