Tuesday, Jun 28, 2022
-->
accused-who-stabbed-police-personnel-in-judicial-custody-for-14-days

पुलिस कर्मियों  को चाकू मारने  वाला आरोपी 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में

  • Updated on 6/23/2022

पुलिस कर्मियों  को चाकू मारने  वाला आरोपी 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में
परिजनों ने कहा मानसिक बीमारी से ग्रसित है आरोपी
पुलिस कर्मियों की ट्रेनिंग पर भी उठ रहे सवाल

 

पूर्वी दिल्ली 23 जून (नवोदय टाइम्स): शाहदरा थाना परिसर में पांच पुलिसकर्मियों व एक होमकार्ड को चाकू मार कर घायल करने वाले आरोपी भरत भाटी (28) को पुलिस ने वीरवार को मेडिकल जांच करवाने के बाद अदालत के समक्ष पेश किया गया, अदालत ने उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। 
 

परिजनों ने कहा मानसिक रूप से बीमार है आरोपी
आरोपी के परिजनों का कहना है कि पहले मां और अब पिता की मौत के बाद से भरत के व्यवहार में अचानक बदलाव आ गया था वह किसी भी बात पर भडक़ जाता था, व उल्टी सीधी हरकत करने लगता था। 
 

पुलिस ने आरोपी के बीमारी से ग्रसित होने को नकारा
हालांकी पुलिस भरत के किसी भी प्रकार की मानसिक बीमारी से ग्रसित होने की बात को सिरे से नकार रही है। पुलिस का कहना है कि परिवार से जब उसके इलाज के से संबंधित चिकित्सियि जांच व उपचार के कागज मांगे गए तो वह उपलब्ध नहीं करवा पाए। 
पुलिस ने इन धाराओं में दर्ज किया मुकदमा
पुलिस ने आरोपी के खिलाफ  हत्या के प्रयास, आत्महत्या का प्रयास, सरकारी काम में बाधा पहुंचाने, ड्यूटी के दौरान सरकारी कर्मचारी पर हमला करने समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है। 
पिता की मौत के बाद से बदला व्यवहार
भरत के परिजनों ने बताया कि भरत के परिवार में दादा-दादी एक छोटा भाई व एक बहन है। करीब 10 साल पहले भरत की मां की कैंसर से मौत हो गई थी। जबकि एक माह पूर्व ट्रेन हादसे में उसके पिता की भी मौत हो गई। उनका शव रेलवे ट्रैक पर मिला था, बताया कि भरत के पिता की मौत एक हादसे में हुई थी। पिता की मौत के बाद से आरोपी की मानसिक स्थिति बिगड़ गई। 
उपचार करवाने को नहीं था तैयार
आम तौर पर भरत सामान्य व्यवहार करता था लेकिन अचानक उसको तेज गुस्सा आ जाता था, परिवार ने उसका इलाज कराने का भी प्रयास किया था। लेकिन वह इलाज के लिए तैयार नहीं होता था। 
अपने साथ हुई ठगी को लेकर गया था थाने
हाल की में भरत के साथ दो हजार रुपये की ठगी हो गई थी। इसीकी शिकायत देने व बातचीत की बात करने वह शाहदरा साइबर थाने पहुंचा था। वहां सीट पर पुलिसकर्मी के ना मिलने के बाद आरोपी खाली सीट का वीडियो बनाने लगा। वहां मौजूद दीपक ने जब उनको रोकने का प्रयास किया तो आरोपी ने अचानक चाकू निकालकर उस पर हमला कर दिया।
आरोपी ने की थी खुद को मारने की कोशिश
इसके बाद उसने एक के बाद एक पांच पुलिसकर्मियों व एक होमगार्ड पर चाकू से वार कर घायल कर दिया,  बाद में उसने खुद भी गर्दन पर चाकू रखकर आत्महत्या की कोशिश की, सिर भी दीवार में मारा। लेकिन पुलिस ने उसे चाकू समेत काबू कर लिया।
जख्मी पुलिस कर्मियों का किया गया ऑपरेशन
वीरवार को एम्स ट्रामा सैंटर में भर्ती पुलिस कर्मी सुनील, दीपक और अमित का ऑपरेशन किया गया। तीनों की हालत अब खतरे से बाहर है। होमगार्ड का जवान रवि वर्मा भी अभी अस्पताल में भर्ती है। शाहदरा थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है।
पुलिस जवानों पर उठे सवाल
जानकारों का कहना है कि थाने में घुस कर आरोपी ने एक के बाद एक पांच पुलिस कर्मियों व एक होमगार्ड को घायल कर दिया लेकिन आपात स्थिती से निपटने की ट्रैनिंग प्राप्त पुलिस कर्मी उसे रोकने में नाकमा रहे।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.