Monday, Jan 24, 2022
-->
after 40 years, hindu-muslims get relief, the hurdles of cremation and cemetery removed

40 साल बाद हिंदू-मुस्लिमों को सुकून, श्मशान एवं कब्रिस्तान की अड़चन दूर

  • Updated on 11/28/2021

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। दिल्ली के पास गाजियाबाद में भूमि विवाद हल होने से श्मशान घाट और कब्रिस्तान के निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। इससे हिंदू-मुस्लिम समुदाय ने भी राहत की सांस ली है। दरअसल इस मुद्दे पर 2 समुदाय की बजाए 2 वार्ड के नागरिकों के बीच लम्बे समय से विवाद चल रहा था। भूमि के मालिकाना हक को लेकर दोनों वार्ड के नागरिक आमने-सामने थे। दोनों पक्ष संबंधित भूमि पर अलग-अलग दावा पेश कर रहे थे। नगर निगम ने समझदारी दिखा यह मामला निपटा दिया है। 

10 बीघा भूमि पर था विवाद
नगर निगम के मोहन नगर जोन में शालीमार गार्डन के पास करीब 10 बीघा भूमि खाली पड़ी है। आश्रय स्थल के बराबर में यह भूमि है। वहां श्मशान घाट और कब्रिस्तान का निर्माण कराने की पुरजोर मांग चल रही थी। नगर निगम ने काफी समय पहले इसके लिए टेंडर भी जारी कर दिए थे, मगर आस-पास के 2 वार्ड के नागरिकों की आपसी लड़ाई के कारण यह विवाद हल नहीं हो रहा था। दरअसल दोनों वार्ड के नागरिकों का दावा था कि यह भूमि उनके वार्ड के अंतर्गत आती है। सिर्फ इस विवाद के चलते निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पाया था। 

नगर निगम का अह्म रोल
नगर निगम ने अब समझदारी दिखा यह मामला निपटा दिया है। महापौर आशा शर्मा ने संबंधित भूमि को वार्ड नंबर-37 में मानकर निर्माण कार्य आरंभ करने की स्वीकृति प्रदान कर दी है। इस वार्ड क्षेत्र में विक्रम एंक्लेव एवं शालीमार गार्डन एक्सटेंशन आते हैं। क्षेत्रीय पार्षद सरदार सिंह भाटी के मुताबिक पहले यह वार्ड काफी बड़ा था। परिसीमन होने पर इस वार्ड के कुछ हिस्सों को अलग कर नया वार्ड बना दिया गया था। उन्होंने कहा कि वार्ड नंबर-37 में श्मशान घाट और कब्रिस्तान का निर्माण हो सकेगा। इस पर करीब 60 लाख रुपए खर्च होने का अनुमान है। 

दोनों समुदायों में खुशी
विवाद निपटने से खाली भूमि का उपयोग भी हो पाएगा। श्मशान घाट एवं कब्रिस्तान के निर्माण का रास्ता क्लीयर होने से हिंदू-मुस्लिम समुदाय में भी खुशी की लहर है। जवाहर पार्क, पप्पू कॉलोनी, विक्रम एंक्लेव, शालीमार गार्डन आदि कॉलोनी के नागरिकों को इस फैसले से लाभ मिलेगा। कालीचरण पहलवान, लीलू प्रधान, दीपक दिवाकर, राज खान, राज, जावेद, हमीद, रवि भाटी, कैलाश यादव, भोपाल यादव, रामजीवन सिंह, अशोक भाटी, रवि हिंदुस्तानी, सोनू पहलवान व नंदलाल आदि ने एक-दूसरे को बधाई देकर मुंह भी मीठा कराया। 

पार्षदों में श्रेय लुटने की होड़
भूमि विवाद हल होने पर अब कुछ पार्षदों में श्रेय लुटने की होड़ भी मच गई है। लगभग 40 साल से यह विवाद कायम था। वार्ड नंबर-37 के पार्षद सरदार सिंह भाटी जहां इसे अपने प्रयासों की जीत बता रहे हैं, वहीं वार्ड नंबर-10 के पार्षद यशपाल पहलवान ने भी इसी प्रकार का दावा किया है। पहलवान ने कहा कि यह काम उनके प्रयासों का नतीजा है। पप्पू कॉलोनी में श्मशान घाट एवं कब्रिस्तान की चारदीवारी जल्द आरंभ होगी। इस सिलसिले में रविवार को नगरायुक्त महेंद्र सिंह तंवर भी वहां पहुंचे।
 

comments

.
.
.
.
.