Friday, Sep 30, 2022
-->
after-the-death-sentence-was-announced-the-murderer-under-special-surveillance

मृत्युदंड का फैसला आने के बाद विशेष निगरानी में कातिल, जेल में बैरक की सुरक्षा भी बढ़ाई गई

  • Updated on 8/1/2022

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। 7 कत्ल के जुर्म में फांसी की सजा सुनने के बाद राहुल वर्मा के हाव-भाव और व्यवहार में सोमवार को बदलाव आता रहा। अदालत परिसर में जहां वह नॉर्मल दिखा, वहीं, जेल पहुंच कर उसके चेहरे पर मायूसी उभर आई। सूत्रों का कहना है कि जेल पहुंचने पर कातिल ने सिर्फ एक बात बोली। 

उसने कहा कि हमने तो कुछ किया ही नहीं है। उधर, जेल प्रशासन ने अगले कुछ दिन तक उसे विशेष निगरानी में रखने का निर्णय लिया है। उसके बैरक की निगरानी भी बढ़ा दी गई है। गाजियाबाद के नई बस्ती मौहल्ले में कारोबारी परिवार के 7 सदस्यों की हत्या के जुर्म में दोषी करार राहुल वर्मा को फांसी की सजा सुनाई जा चुकी है। 

पुलिस अभिरक्षा में सोमवार को डासना जेल से इस हत्यारे को कोर्ट ले जाया गया था। कोर्ट का फैसला आने के उपरांत वह सामान्य दिखाई दिया। अभियोजन पक्ष के अधिवक्ता देवदास सिंह ने बताया कि हत्यारे राहुल वर्मा के चेहरे पर कोई शिकन नहीं थी। उसे अपने किए पर भी पछतावा नहीं है। वह नीली जींस व सफेद रंग की शर्ट पहने था। 

अधिवक्ता ने कहा कि पीड़ित पक्ष को आखिरकार न्याय मिल गया है। वहीं, डासना जेल पहुंचने के बाद राहुल वर्मा मासूस था। सूत्रों का कहना है कि जेल के भीतर उसके हाव-भाव भी बदले थे। जेल में बैरक नंबर-8 में उसे रखा गया है। जेल अधीक्षक आलोक सिंह के मुताबिक अगले कुछ दिन तक राहुल को विशेष निगरानी में रखा जाएगा। 

संबंधित बैरक के आस-पास की निगरानी बढ़ा दी गई है। नंबरदार और पहरेदारों की संख्या में इजाफा किया गया है। हत्यारे का कारनामा जानकार हर कोई दंग रह जाता है। जेल परिसर में भी 3 दिन से नई बस्ती हत्याकांड की खूब चर्चाएं हो रही हैं। डासना जेल में कई सजायाफ्ता अपराधी बंद हैं। 

वाराणसी बम ब्लास्ट केस में आतंकी वलीउल्लाह को भी फांसी की सजा सुनाई जा चुकी है। वह भी इस जेल में बंद है।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.