Thursday, Apr 15, 2021
-->
agra-city-well-dug-for-liquor-storage-in-the-village-filled-the-boxes-of-alcohol-prsgnt

आगरा के एक गांव में मिला शराब का कुआं, पढ़ें हैरान करने वाली कहानी....

  • Updated on 12/11/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। शराबियों के लिए शराब का कुंआ होना किसी चमत्कार से कम नहीं हो सकता। शराबी इस तरह की ख्वाहिश रखते हैं और अपने सपनों में अक्सर शराब के कुंओं में सराबोर रहते हैं लेकिन क्या हो अगर यही बात हकीकत में सच हो जाये। 

ऐसा ही एक मामला घटा है उत्तर-प्रदेश के आगरा जिले में, जहां एक शातिर ने हकीकत में शराब के कुआं खोद डाला। ये कुंआ बाह के चौसिंगी गांव में खोदा गया था। जिसे पुलिस ने काफी तहकीकात के बाद खोज निकाला। हम आपको इसकी पूरी कहानी बताने जा रहे हैं जो आपको हैरानी में डाल देगी, वैसे ही जैसे गांव के लोगों और पुलिस को डाल दिया था। 

सोशल मीडिया के जरिए किसान आंदोलन को उग्र बनाने की साजिश

दरअसल, एक शराब के तस्कर ने शराब के शौकीनों के लिए 40 फीट गहरा कुआं खोद डाला। जिसमें देशी शराब के पौवे भर दिए गए और जो कोई पीना चाहता था वो इसकी कीमत चुका कर शराब ले जाता था। पुलिस ने तहकीकात में इस तस्करी के आरोपी को गिरफ्तार किया है।

शुरूआत में इस तस्कर ने शराब के कुएं के बारे में नहीं बताया था लेकिन काफी मेहनत के बाद पुलिस को उसका पता चल सका। गिरफ्तारी के दौरान पुलिस को कुएंं से देशी शराब की 45 पेटियां बरामद हुईं। 

नाबालिग लड़कियों के नाम से बने फर्जी आधार कार्ड, करवाया जा रहा बालश्रम 

बताया जा  रहा है कि पिनाहट पुलिस ने भदरौली के पास चेकिंग के दौरान कार सवार दो युवकों को शराब की तस्करी करते हुए गिरफ्तार किया था। आरोपितों ने अपना नाम टिंकू निवासी चौसिंगी बाह और धर्मेंद्र निवासी कन्हेरा बासौनी बताया। इनकी कार से पुलिस ने सात पेटी देशी शराब बरामद की थी। इस बारे में पूछताछ की गई तब आरोपी टिंकू ने बताया कि वह शराब को तस्करी करता था और गांव में पीने के शौकीन लोगों को बेचता है। वो ठेके से कम दाम पर शराब बेचता था इसलिए उसकी अच्छी कमाई होती थी।

CJI बोबडे की मां को नागपुर में एक शख्स ने लगाया करोड़ों का चूना, गिरफ्तार

उसने बताया कि वो सेप्टिक टैंक के बहाने से शराब के लिए 40 फीट गहरा संकरा कुआंं खोद कर शराब बेच रहा था। पीने के शौकीन लोगों ने उसमें एक रस्सी में कांटा बांध रखा था। जिसे कुएं में डालकर पेटी बाहर निकाली ली जाती थी। जब चुनाव या त्‍योहार के दौरान शराब की दुकानें बंद रहती थीं, उस दिन यह टिंकू मुंहमांगी कीमत पर शराब बेचता था।

ये भी पढ़ें-

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.