Tuesday, Oct 04, 2022
-->
Akash ruined me, save after this the girl''s body was found

आकाश ने मुझे कर दिया बर्बाद, बचा लो इसके बाद मिली युवती की लाश

  • Updated on 8/3/2022


नई दिल्ली, टीम डिजीटल/ नोएडा के सेक्टर-70 स्थित एक ओयो होटल के कमरे में मल्टीनेशनल साफ्टवेयर कंपनी में कार्यरत महिला कर्मी का शव संदिज्ध परिस्थितियों में पंखे से लटका मिला। होटल कर्मियों की सूचना पर मौके पर पहुंची थाना फेस थ्री पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतका के पिता ने नोएडा के थाना सेक्टर-49 की बरौला पुलिस चौकी पर तैनात एक सिपाही पर बेटी के साथ रेप कर हत्या करने का आरोप लगाया है। मृतका एक 28 सेकेंड का विडियो भी मृतका के पिता ने पुलिस को उपलब्ध कराया  है। जिसमें मृतका ने अपने एक पूर्व मित्र से सिपाही पर उसे गंभीर आरोप लगाते हुए फंसाने और उसकी जिंदगी बर्बाद करने की बात कहते हुए मदद की गुहार लगाई थी। मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधिकारियों ने तीन डाक्टरों के पैनल से शव का पोस्टमार्टम कराया है। पूरे पोस्टमार्टम की विडियो रिकार्डिंग भी कराई गई है। वहीं आरोपों के घेरे में आए सिपाही की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। 
अपर पुलिस उपायुक्त (जोन द्वितीय) अंकिता शर्मा ने बताया कि नोएडा के सेक्टर-24 में स्थित एक नामी मल्टीनेशनल सॉफ्टवेयर कंपनी में काम करने वाली युवती खोड़ा कॉलोनी में रहती थी। युवती ने सोमवार की रात को सेक्टर 70 स्थित एक ओयो होटल में ऑनलाइन कमरा बुक करवाया, तथा वहां पर आई। मंगलवार  को जब युवती कमरे से नहीं निकली तो होटल के कर्मचारियों को शक हुआ। उन्होंने उसके कमरे की बेल बजाई। जब वह बाहर नहीं निकली तो उसके परिजनों को सूचित किया गया। होटल के कमरे का दरवाजा तोडक़र देखा गया तो युवती पंखे के फंदे से लटकी थी।  घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। अपर उपायुक्त ने बताया कि आज दोपहर को युवती के परिजनों ने इस मामले में थाना पहुंचकर आरोप लगाया कि युवती के साथ बलात्कार करने के बाद उसकी हत्या की गई है। उन्होंने बताया कि होटल के कमरे में लगे सीसीटीवी कैमरे में युवती अपने कमरे में अकेले आती हुई दिखाई दे रही है, तथा जब तक वह रही है तब तक उसे कमरे में किसी ने प्रवेश नहीं किया है।
परिजनों ने एक विडियो पुलिस को कराया उपलब्ध
युवती के परिजनों ने बुधवार को एक वीडियो पुलिस को उपलब्ध कराया है। इस वीडियो को उसने घटना से 1 दिन पूर्व अपने पूर्व दोस्त अर्जुन दुग्गल को भेजा था, जिसमें वह कह रही है कि नोएडा के थाना सेक्टर पर तैनात पुलिसकर्मी आकाश  उसकी जिंदगी बर्बाद कर रहा है। उन्होंने बताया कि जांच के दौरान पुलिस को पता चला है कि अनिल दुग्गल और मृतका पहले आपस में दोस्त थे। पुलिसकर्मी आकाश की इनकी मुलाकात जीआईपी मॉल में हुई। पुलिस को शक है कि युवती ने अनिल दुग्गल को छोडक़र आकाश से दोस्ती कर लिया था। उन्होंने बताया कि पुलिस सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर मामले की जांच कर रही है। 
मृतका का पूर्व मित्र भी पुलिस हिरासत में
पुलिस सूत्रों के अनुसार जब मृतका के परिजनों ने अर्जुन दुग्गल पर दबाव बनाया कि उसने उसकी हत्या की है तो उसने मृतका के द्वारा 3 दिन पूर्व भेजी गई वीडियो उन्हें सौंपा तथा कहा कि वह मृतका के संपर्क में नहीं था। मौजूदा समय में उसकी सिपाही आकाश से दोस्ती चल रही थी। बताया जाता है कि पुलिसकर्मी आकाश भी अपना मोबाइल फोन बंद करके फरार है। वह मेरठ का रहने वाला है। पुलिस उसके मेरठ स्थित पैतृक गांव पर भी छापेमारी कर रही है।  पुलिस  अर्जुन दुग्गल को भी हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। पुलिस को सिपाही आकाश के भी कई चैट मृतका के मोबाइल फोन में मिले है।
 

comments

.
.
.
.
.