Sunday, Jan 23, 2022
-->
akhilesh yadav took dig at amit shah hope criminals will seen without glasses rkdsnt

दलित हत्याकांड : अखिलेश का शाह पर कटाक्ष- उम्मीद है ये अपराधी बिना चश्मे के भी दिख जाएंगे

  • Updated on 11/27/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने प्रयागराज में एक दलित परिवार के चार लोगों की हत्या को लेकर सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि भाजपा भी समाजवादी पार्टी (सपा) के नक्शेकदम पर चल रही है।

वहीं सपा अध्यक्ष और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस घटना को भाजपा सरकार पर एक और बदनुमा दाग बताया। बसपा प्रमुख ने शनिवार की सुबह ट्वीट किया, ‘‘उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में अभी हाल में दबंगों द्वारा की गई एक दलित परिवार के चार लोगों की निर्मम हत्या अति-दु:खद एवं शर्मनाक है। यह घटना भी सरकार की लचर कानून-व्यवस्था को दर्शाती है। ऐसा लगता है कि इस मामले में भाजपा भी अब सपा सरकार के ही नक्शेकदम पर चल रही है।’’  

 

नवाब मलिक का दावा - फंसाने की कोशिश कर रही हैं केंद्रीय एजेंसियां 

 

मायावती ने ट्वीट किया, ‘‘इस घटना के बाद सबसे पहले पहुंचे बाबूलाल भांवरा के नेतृत्व वाले बसपा के प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि प्रयागराज में दबंगों का जबरदस्त आतंक है, जिसके कारण ही यह घटना हुई। बसपा की मांग है कि सरकार सभी दोषी दबंगों के विरुद्ध सख्त कानूनी कार्रवाई करे।’’ सपा के प्रमुख अखिलेश यादव ने शनिवार को मायावती के ट्वीट के कुछ देर बाद ही इस घटना पर ट्वीट किया, ‘‘इलाहाबाद (प्रयागराज) के फाफामऊ में दबंगों द्वारा चार दलितों की हत्या दलित विरोधी भाजपा सरकार पर एक और बदनुमा दाग है। घोर निंदनीय।‘’ उन्होंने कहा, ‘’उम्मीद है ये अपराधी बिना चश्मे के भी दिख जाएंगे।‘’ 

कृषि मंत्री तोमर ने कहा - पराली जलाना अब अपराध नहीं होगा, किसानों की मांग मानी गईं

 

यादव ने इस ट्वीट के जरिये केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के पिछले दिनों दिये गये एक बयान पर भी तंज कसा। शाह ने कुछ दिन पहले लखनऊ में भाजपा के कार्यकर्ता सम्मेलन में उत्तर प्रदेश सरकार के कानून-व्यवस्था की सराहना करते हुए कहा था,‘‘2017 से पहले उत्तर प्रदेश की कानून-व्यवस्था का बुरा हाल देखकर मेरा तो खून खौल जाता था, पहले की सरकार के जमाने में बच्चियां घर से बाहर नहीं निकल सकती थीं, हर जिले में दो-तीन बाहुबली होते थे लेकिन आज दूरबीन लेकर ढूंढता हूं तो भी कहीं कोई बाहुबली दिखाई नहीं देता है।‘‘ गौरतलब है कि प्रयागराज के एक गांव में बुधवार की रात एक दलित परिवार के चार लोगों की नृशंस हत्या कर दी गई थी। चारों के सिर पर कुल्हाड़ी से वार किया गया था। 

AAP ने भी हत्या को लेकर योगी सरकार पर साधा निशाना 
आम आदमी पार्टी (आप) ने प्रयागराज में हाल में एक दलित परिवार के चार सदस्यों की हत्या को लेकर शनिवार को उत्तर प्रदेश सरकार की आलोचना की और मामले की त्वरित सुनवाई और दोषियों को मौत की सजा देने की मांग की। आप सांसद संजय सिंह ने पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में घोषणा की कि उनकी पार्टी पीड़ितों के लिए न्याय की मांग को लेकर रविवार को उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में विरोध प्रदर्शन करेगी। 

प्रियंका गांधी ने यूपी में कहा- भाजपा की लूट वाली नीति को खत्म करेगी कांग्रेस

 

उन्होंने आरोप लगाया कि यह भयावह घटना, जिसमें परिवार की एक नाबालिग लड़की के साथ कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार किया गया और उसकी हत्या कर दी गई, वह योगी आदित्यनाथ प्रशासन की ‘‘लापरवाही और राज्य में पुलिस-अपराधियों की सांठगांठ’’ का परिणाम थी। 

कांग्रेस नेता ने बढ़ते दामों पर पूछा- देश की वित्त मंत्री जी टमाटर खाती हैं या नहीं? 

प्रयागराज जिले के फाफामऊ थाना क्षेत्र के एक गांव में बुधवार रात एक दलित परिवार के चार सदस्यों की बेरहमी से हत्या कर दी गयी थी। जिस समय यह घटना हुई उस समय परिवार का मुखिया लगभग 50 वर्षीय व्यक्ति, उसकी 45 वर्षीय पत्नी, 16 वर्षीय बेटी और 10 वर्षीय पुत्र घर में सो रहे थे। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.