मुजफ्फरनगर के कवाल हत्याकांड मामले में सभी सात आरोपियों को अदालत ने सुनाई उम्रकैद

  • Updated on 2/8/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मुजफ्फरनगर के कवाल में हुए 2 भाईयों के हत्याकांड मामले में सभी 7 दोषियों को अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। साथ ही सभी दोषियों पर 2-2 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है। जुर्माने की 80 प्रतिशत धनराशि पीड़ित परिवार को दी जाएगी।

जानें, मनी लॉन्ड्रिंग का पूरा मामला जिसके लिए ED के घेरे में आए रॉबर्ट वाड्रा

मालूम हो कि 27 अगस्त 2013 को जानसठ कोतवाली क्षेत्र के कवाल गांव में मलिकपुरा के गौरव और उसके ममेरे भाई सचिन की हत्या कर दी गई थी। इस घटना में कवाल के शाहनवाज की भी मौत हुई थी। इस बहुचर्चित हत्याकांड के बाद मुजफ्फरनगर और शामली में दंगा भड़क गया था।

जम्मू - कश्मीर में बर्फबारी बनी आफत, रेस्क्यू जारी- 2 जवानों को जिंदा बचाया

पांच साल तक चली न्यायिक प्रक्रिया के बाद कोर्ट ने सातों आरोपियों को दोषी ठहराया। मृतक गौरव के पिता ने जानसठ कोतवाली में कवाल के मुजस्सिम, मुजम्मिल, फुरकान, नदीम, जहांगीर, अफजाल और इकबाल के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। कोर्ट ने सभी आरोपियों को धारा 147,148,149, हत्या की धारा 302, धमकी देने की धारा 506 में सजा का हकदार माना था।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.