Tuesday, Dec 10, 2019
allahabad highcourt orders to provide protection to sakshi and ajitesh

साक्षी-अजितेश के साथ हाईकोर्ट में मारपीट! इलाहाबाद HC ने दिया ये आदेश

  • Updated on 7/15/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। साक्षी मिश्रा (Sakshi Mishra) और उनके पति अजितेश कुमार (Ajitesh Kumar) की सुरक्षा को लेकर आज इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) में सुनवाई की गई। सुनवाई के बाद इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दोनों को सुरक्षा देने का आदेश दिया है।

इसी बीच अजितेश के वकील का भी बयान सामने आया है जिसमें उन्होंने कहा है कि हाईकोर्ट परिसर में कुछ वकीलों ने अजितेश के साथ मारपीट की। हालांकि पुलिस ने इस तरह की कोई भी घटना से इनकार किया है।

इलाहाबाद HC के सामने से अपहृत युवक- युवती को UP पुलिस ने फतेहपुर से छुड़वाया

साक्षी और उसके पति ने मांगी थी अदालत से सुरक्षा
इसके पहले, इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने सोमवार को बरेली के विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा और उसके पति अजितेश को पुलिस सुरक्षा प्रदान की। साक्षी और उसके पति ने अदालत से सुरक्षा मांगी थी कि उनके शांतिपूर्ण जीवन में किसी तरह की दखलअंदाजी न की जाए।

बिहार में जल-प्रलय की आहट, कई शहरों में जनजीवन अस्त-व्यस्त, पढ़ें एक विशेष रिपोर्ट

साक्षी के पिता से था जान का खतरा
आज जब इस मामले पर सुनवाई शुरू हुई, उस समय साक्षी और उसका पति सुनवाई के समय अदालत में मौजूद थे। न्यायमूर्ति सिद्धार्थ वर्मा ने साक्षी और उसके पति को सुरक्षा मुहैया कराने का आदेश पारित किया। इन्होंने दलील दी थी कि साक्षी के पिता से इनकी जान को खतरा है क्योंकि वे उनकी शादी से नाखुश हैं जिसकी वजह अजितेश का दलित जाति से होना है।

कस्टडी में देवर की मौत, भाभी के साथ गैंगरेप - पुल‍िस प्रशासन पर उठे सवाल

अदालत के बाहर हुई हाथापाई
हालांकि जैसे ही वे अदालत से बाहर आए, कुछ वकीलों ने उनके साथ हाथापाई की। इस बीच, अदालत से बाहर एक दंपति का अपहरण होने की घटना से सनसनी फैल गई और लोगों को लगा कि साक्षी और अजितेश का अपहरण हो गया है।हालांकि, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अतुल शर्मा ने बताया कि यह कोई और युगल है जिसका वाहन फतेहपुर में पकड़ लिया गया है और पूछताछ की जा रही है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.