Monday, Jan 21, 2019

अमृतसर: सामने आई नवजात के साथ बर्बता, पहले दबाया गला फिर ट्रेन के शौचालय में फेंका

  • Updated on 12/24/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अमृतसर से इंसानियत को शर्मसार करने वाली खबर सामने आई है। यहां ट्रेन के शौचालय से एक नवजात शिशु को बहा दिया गया, जिसे ट्रेन की सफाई के दौरान सफाईकर्मियों ने बरामद कर अस्पताल पहुंचाया।

बच्चे का रविवार से अमृतसर सिविल अस्पताल में इलाज चल रहा है। सफाईकर्मियों को नवजात शिशु  शनिवार दोपहर में अमृतसर-हावड़ा एक्सप्रेस ट्रेन से मिला। बताया जा रहा है ये ट्रेन सफाई के लिए खड़ी थी।

दिल्ली मेट्रो के पूरे हुए 16 साल, उपलब्धियां बेमिसाल

ऐसा लग रहा था कि नवजात सिर्फ एक दिन का है, उसे जाहिर तौर पर छोड़ दिया गया और ट्रेन के शौचालय में बहा दिया गया। फिलहाल जीआरपी और पंजाब के अमृतसर के अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं।

पुलिस के हत्थे चढ़ा मेट्रिमोनियल साइट पर 21 लड़कियों को ठगने वाला बदमाश

वहीं इस मामले में रेलवे स्टेशन के सीसीटीवी फुटेज की जांच की जा रही है। ताकि यह पता चल सके कि इसके पीछे कौन है। वहीं सफाईकर्मियों ने जीआरपी को बताया कि नवजात के गले में एक दुपट्टा लिपटा मिसा, जिससे यह आशंका जताई जा रही है कि शौचालय में इसे बहाने से पहले इसे गला घोंटकर मारने की कोशिश की गई होगी।

1984 दंगा मामला: दिल्ली HC के फैसले को चुनौती देने सुप्रीम कोर्ट पहुंचे सज्‍जन कुमार

अमृतसर अस्पताल के एक डॉक्टर ने रविवार को कहा कि नंगे बदन पाया गया बच्चा खतरे से बाहर है। पुलिस अधिकारियों और डॉक्टरों ने कहा कि नवजात भाग्यशाली है कि फेंके जाने के बाद भी बच गया। इस मामले में जीआरपी ने भारतीय दंड संहिता की धारा 317 के तहत अज्ञात लोगों के खिलाफ एक मामला दर्ज कर लिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.