Sunday, Jun 13, 2021
-->
another associate of sushil arrested in wrestler sagar murder case musrnt

पहलवान सागर हत्या मामले में सुशील का एक और सहयोगी गिरफ्तार

  • Updated on 6/11/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने छत्रसाल स्टेडियम में मारपीट के मामले में ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार के एक और सहयोगी को गिरफ्तार किया है। मारपीट की घटना में एक पहलवान की मौत हो गयी थी और उसके दो दोस्त घायल हो गए थे।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि आरोपी अनिरूद्ध कथित मारपीट की घटना में शामिल था। उसे बृहस्पतिवार को राष्ट्रीय राजधानी में गिरफ्तार किया गया। सुशील और उसके सहयोगियों ने पहलवान सागर धनखड़ और उसके दो दोस्तों सोनू तथा अमित कुमार से संपत्ति विवाद को लेकर चार और पांच मई की दरमियानी रात को मारपीट की थी। बाद में धनखड़ की मौत हो गयी थी।

सागर धनखड़ हत्याकांड: गवाहों को सुशील और उसके साथियों से खतरा, कोर्ट से मांगी सुरक्षा

सुशील को सह आरोपी अजय कुमार के साथ 23 मई को दिल्ली के मुंडका इलाके से गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने बताया कि घटना के सिलसिले में अब तक 10 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार पर हत्या, गैर इरादतन हत्या और अपहरण के आरोप हैं।

इसके पहले, पुलिस ने सुशील कुमार को घटना का ‘मुख्य आरोपी और सरगना’ बताया और कहा है कि ऐसे इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य हैं जिसमें सुशील और उसके सहयोगी धनखड़ को पीटते नजर आए। सोशल मीडिया पर एक वीडियो सामने आया था जिसमें सुशील और उसके सहयोगी एक व्यक्ति को स्टिक से पीटते नजर आए। पुलिस ने 31 मई को सुशील का हथियार का लाइसेंस रद्द कर दिया था।

Sagar Murder Case: सुशील कुमार पर मकोका लगा सकती है दिल्ली पुलिस, जानें पूरा मामला

दिल्ली पुलिस का कहना है कि सागर धनखड़ हत्याकांड के मुख्य आरोपी सुशील कुमार और उसके सहयोगी गवाहों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। ऐसे में पुलिस ने चारों अहम गवाहों और पीड़ितों की सुरक्षा की मांग कोर्ट से की है। इसे लेकर क्राइम ब्रांच ने कोर्ट में अर्जी दाखिल की है।

सागर हत्याकांड: बेइज्जती का बदला लेने के लिए हुई हत्या, सुशील के खिलाफ मिल गए अहम सबूत

क्राइम ब्रांच का कहना है कि हत्याकांड का मुख्य आरोपी एक अंतरराष्ट्रीय पहलवान है। वो एक प्रभावशाली इंसान है और उसके पैसा है। ऐसे में सुशील और उसके साथी गवाहों को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर सकते हैं। बता दें कि सुशील कुमार इस वक्त जेल में बंद है। क्राइम ब्रांच ने कहा है कि ये केस बहुत संवेदन शील है। वहीं मीडिया भी इस केस को लगातार कवर कर रहा है। 

सागर के तीन साथियों को चाहिए सुरक्षा जिनकी हुई थी पिटाई 
दरअसल वारदात के वक्त सागर और सोनू के साथ इनके अन्य तीन साथी थे। जो इस केस में अहम गवाह भी हैं और पीड़ित भी। सागर सोनू के साथ इनकी भी सुशील और उसके साथियों ने लाठी, डंडों और हॉकी से पिटाई की थी और जान से मारने की भी धमकी दी थी। इन्हीं में से एक गवाह पहले ही कोर्ट में याचिका दायर कर अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा की मांग कर चुका है। हाईकोर्ट ने इन्हें अंडर विटनेस प्रोटेक्शन स्कीम-2018 के तहत सुरक्षा देने को कहा है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.