Wednesday, Jun 29, 2022
-->
arrested-two-miscreants-who-robbed-father-son-on-gun-point

बाप बेटे से गन प्वाइंट पर एक करोड़ 40 लाख लूटने वाले दो बदमाश गिरफ्तार

  • Updated on 4/3/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। रानीबाग इलाके में गन प्वाइंट पर बाप-बेटे से एक करोड़ 40 लाख की लूट मामले को क्राइम ब्रांच ने सुलझाते हुये दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार बदमाश बबलू खान गैंग के शातिर बदमाश हैं। आरोपियों के पास से 40 लाख 40 हजार रुपये भी बरामद हुये हैं।

गिरफ्तार बदमाशों की पहचान आलम अली और मुस्तकीम खान के रूप में हुई है। फिलहाल पुलिस पूछताछ कर गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश कर रही है। क्राइम ब्रांच के एडिशनल सीपी राजीव रंजन के मुताबिक 23 मार्च को पीतमपुरा स्थित रानीबाग इलाके में चार हथियार बंद बदमाश एक बाप बेटे से एक करोड़ 40 लाख रुपये की लूट की थी। इसके अलावा मोती बाग इलाके में भी दिन दहाड़े 15 मार्च को आठ लाख रुपये की लूट हुई थी। 

राजधानी में धड़ल्ले से बिक रहा चाइनीज मांझा, एक युवक की गर्दन कटी

रानीबाग लूट मामले को सुलझाने के लिए खुद क्राइम ब्रांच के डीसीपी जॉय टिर्की के नेतृत्व में टीम बनाई गई। पुलिस मौके पर जाकर टेक्निकल और मैन्युअल सर्विलांस की मदद से आगे बढ़ रही थी। 

पूरे रूट के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली गई। एक अपै्रल को हेड कांस्टेबल रविंद्र को सूचना मिली कि जखीरा इलाके के बबलू खान गैंग का वारदात में हाथ है। गिरोह के दो बदमाश इंद्रलोक मेट्रो पार्किंग में आने वाले हैं। सूचना के बाद पुलिस ने ट्रैप लगा दोनों बदमाशों को धर दबोचा। 

मोती बाग में की थी आठ लाख की लूट
पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि मोती नगर में 15 फरवरी की शाम करीब साढ़े चार बजे आठ लाख लूट की थी। बुराड़ी निवासी मोनू सिंघल रकम के साथ स्कूल से जा रहे थे। तभी दो स्कूटी पर अपने गिरोह के चार सदस्यों के साथ आये और उन्हें रोककर गन प्वाइंट पर लूटपाट की।

DCW के सर्च अभियान से घबराए बदमाश, 24 घंटों के अंदर मिली अपहृत लड़की

उसके बाद रानी बाग में 22 मार्च की शाम करीब सात बजे वरुण गर्ग और उनके पिता को गन प्वाइंट पर लेकर पीतमपुरा इलाके में 1.40 करोड़ रुपये लूट की।  इस वारदात में इन दोनों के साथ बबलू और बाबा नाम के बदमाश भी शामिल थे। पूछताछ मं पता चला कि आलम अली पर पहले से भी तीन अन्य मामले दर्ज हैं। फिलहाल पुलिस फरार बबलू और बाबा की तलाश कर रही है। 

पिता मौलवी,बेटा बन गया लुटेरा
आलम अली रामपुर बेहरा जिले का रहने वाला है। उसके पिता बिहार का दरभंगा स्थित एक गांव में मस्जिद में मौलवी हैं। वह नौवीं कक्षा तक मदरसे में पढ़ाई की। बाद में वह दिल्ली आ गया और इंद्रलोक में एक वाटर कूलर बनाने की फैक्ट्री में काम करने लगे। जल्दी पैसा कमाने के लिए उसने अपराध करना शुरू कर दिया।

BHU में सरेआम दिखी गुंडागर्दी, छात्र की गोली मारकर की हत्या

वह इससे पहले वर्ष 2018 में एक डकैती मामले में गिरफ्तार किया गया था। वहीं मोहम्मद मुस्तकीम दिल्ली में ही 11 वीं कक्षा तक पढ़ाई की है और  झुग्गियों में किराना स्टोर चलाता था। फिर जल्द ही गलत संगत में पड़ अपराध की दुनिया में शामिल हो गया। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.