Sunday, Feb 18, 2018

आशु के हत्यारे ने दी हैरान करने वाली जानकारी

  • Updated on 2/15/2018

स्वरूप नगर,14 फरवरी (महेश चौहान): स्वरूप नगर इलाके में आशू नामक बच्चे की हत्या में पकड़े गए आरोपी अवधेश की हैरान करने वाली बातें सामने आ रही हैं। इलाके में कुछ ऐसे युवक भी सामने आए हैं जो आरोपी अवधेश से यूपीएससी की तैयारी के लिए उसको गुरू तक मानने लगे थे। वारदात के बाद ऐसे ही कुछ युवक अब उसे ही फर्जी अधिकारी बता रहे हैं। जिसने अपने परिवार वालों को भी अपनी पढ़ाई को लेकर झूठ बोल रखा था।

विनोद मेहरा हत्याकांड में जारी हुए आरोपियों के स्केच, जांच में जुटी पुलिस

अजय कुश्वाह के नाम से थीफेसबुक आईडी 
अवधेश ने अपने फेसबुक पर अवधेश कुश्वाह अजय (अजय कुश्वाह) के नाम से आईडी बना रखी थी। अजय कुश्वाह कौन है? यह नाम उसने क्यों रखा था? पुलिस अधिकारी उससे जानने की कोशिश कर रहे हैं। उसने फेसबुक पर खुद को आईबी का चीफ ऑपरेशन ऑफिसर, इनकम टैक्स का पूर्व सीईओ,यूपीएससी आईएएस परीक्षा की तैयारी करवाने वाला पॉलिटिकल साइंस का टीचर बता रखा था। उसने फेसबुक के एक ब्लॉक में एंगेज्ड लिखा हुआ है। वो लड़की कौन है। उसके बारे में आरोपी से जानने की कोशिश की जा रही है। पुलिस अधिकारी जल्द उस लड़की के परिवार वालों से भी पूछताछ कर
सकते हैं। 

पुलिस सूत्रों की मानें तो आशू के हत्यारे के बारे में अवधेश पर कुछ दिनों से शक होने लगा था। लेकिन उस पर हाथ रखना काफी मुश्किल हो रहा था। 12 फरवरी की रात को जांच टीम ने अवधेश और वहां पर मौजूद कुछ अन्य लोगों से कहा कि तीन से चार लोगों का नारको टेस्ट करवाएंगे। जिसमें आरोपी का पता चल सकता है। जिसके बाद अवधेश काफी डर गया था। बाद में वह जांच टीम की बातों पर ध्यान नहीं दे रहा था।

वह वहां से निकलने की कोशिश कर रहा था। उसको देखकर जांच टीम को पूरा यकीन हो गया था कि अवधेश ने ही आशू की हत्या की है। अवधेश मौके पर से उठकर अपने घर गया। जिसपर तभी से नजर ज्यादा रखनी शुरू कर दी। सुबह स्वरूप नगर एसएचओ ने अचानक उसके घर पर टीम के साथ धावा बोल दिया। तभी अवधेश ने नीचे से ब्रीफकेस निकाला। जिसमें आशू की लाश पड़ी थी।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आशू के लापता होने के बाद आरोपी ने शुरुआत में जांच टीम को बताया कि एक काले रंग की कार को दो से तीन बार उसने इलाके में संदिग्ध हालत में आते-जाते हुए देखा था। 
उसका नंबर वह नहीं ले पाया था। उसने कार का पीछा भी किया था। इसके अलावा उसने जांच टीम को बताया था कि आशू को एक बाइक पर दो युवक ले गए थे। जिनकी शक्लें उसने नहीं देखी थी।

इसको लेकर जांच टीमें इलाके में लगे कुछ सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली थी। जांच टीम ने बुराड़ी,भलस्वा डेयरी, बख्तावरपुर, मुकुंदपुर इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाला था। लेकिन कही कुछ नहीं मिला था।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.