Friday, Sep 30, 2022
-->
astrologer arrested for cheating 8 crores from former hc judge pragnt

Crime Branch के हाथ लगी बड़ी कामयाबी! HC की पूर्व जज से 8 करोड़ की ठगी करने वाला ज्योतिषी गिरफ्तार

  • Updated on 1/12/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बेंगलुरु (Bengaluru) की क्राइम ब्रांच (Bengaluru Police Crime Branch) के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है। क्राइम ब्रांच की टीम ने धोखाधड़ी के लंबे इतिहास वाले एक स्वयंभू ज्योतिषी को गिरफ्तार किया है।

क्या है मामला?
क्राइम ब्रांच की टीम ने 52 वर्षीय युवराज रामदास को हाईकोर्ट की एक रिटायर्ड जज से धोखाधड़ी करने के आरोप में गिरफ्तार किया है।  रिटायर्ड जज का दावा है कि ज्योतिषि ने उनसे ये कहते हुए 8 करोड़ रुपए लिए कि वो अपने कनेक्शन से उन्हें बड़ा पद दिलाएगा। 

दिल्ली दंगाः ताहिर हुसैन ने फोन कर उमर खालिद को कहा था- जला दिए कई घर

जज ने दर्ज कराया केस
हाई कोर्ट की जज ने ज्योतिषी के खिलाफ विल्सन गार्डन पुलिस स्टेशन में शिकायत करते हुए धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया है। उन्होंने आरोप लगाया कि युवराज रामदास नाम के इस ज्योतिषि ने उसने कहा था कि उसके कई राजनीतिक कनेक्शन हैं जिसके लिए वो उन्हें उच्च पद दिलवा सकता है। इसके लिए उस ज्योतिषि ने जून 2018 से लेकर नवंबर 2019 तक के बीच में मेरे से 8.27 करोड़ रुपए ले लिए। 

जज ने बताया कि सबसे पहले युवराज से उनकी मुलाकात एक अवकाश प्राप्त एसपी ने 2017-18 में कराई थी और कहा था कि वह उसे सन 2000 से ही जानता है।

Farm Laws: मोदी सरकार पर भड़कें राहुल गांधी, कहा-अन्नदाता समझता है आपके इरादे

पुलिस में दर्ज शिकायत में कहा गया है कि पहली ही मुलाकात में उसने रिटायर्ड जज को भविष्य पढ़ने का दावा करते हुए कहा कि उन्हें भविष्य में बहुत बड़ा आदमी बनना है। युवराज ने कहा कि उसके दिल्ली के पॉलिटिशियन्श से अच्छे संबंध है और उनके साथ अपनी फोटो भी दिखाई। उसने कहा कि दिल्ली के नेता आप जैसे योग्य महिलाओं की तलाश में हैं जिन्हें वे बड़े ओहदे पर नियुक्त कर सके। ऐसे में उसने पार्टी फंड के लिए कुछ रुपयों की मांग की और महिला जज उसके झांसे में आ गई।   

जॉयंट कमिश्नर ऑफ पुलिस ने कहा ये
जॉयंट कमिश्नर ऑफ पुलिस (क्राइम) संदीप पाटिल ने आरोपी के गिरफ्तारी के बाद बताया कि पूर्व जज ने आरोपी ने अपने इसी नाटक से जरिए कई लोगों को ठगा है। उसने इससे पहले भी कई लोगों को उच्च पद दिलाने का वादा करते हुए करोड़ों रुपए ठग चुका है।

राष्ट्रीय युवा संसद में बोले PM मोदी- राजनीतिक वंशवाद लोकतंत्र का सबसे बड़ा दुश्मन

बरामद किए 71 करोड़
उन्होंने आगे बताया कि जब आरोपी को गिरफ्तार किया गया तो उसके पास से 26 लाख कैश बरामद किया गया था। इतना ही नहीं उसके पास से चेक और ज्वैलरी मिला कर कुल 91 करोड़ की संपत्ति बरामद हुई है।

आपको बता दें कि पुलिस युवराज को पहले भी गिरफ्तार कर चुकी है। इससे पहले युवराज ने मुंबई के एक व्यापारी को उसके पारिवारिक संपत्ति विवाद को निपटाने का झांसा देकर 10 करोड़ की ठगी की थी। इस मामले में उसे दिसंबर 2020 में ही जमानत मिली थी।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.