Thursday, Feb 09, 2023
-->
attack-on-a-family-for-1500-rupees

1500 रुपये बनी हत्या की वजह, एक ही परिवार के 3 लोगों पर हुआ घातक हमला

  • Updated on 6/4/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आज के समय में पैसों के लिए इंसान किस हद तक गिर सकता है इस बात का अंदाजा आप भारत नगर इलाके में हुई वारदात को देखकर लगा सकते है। जहां बुनकर कॉलोनी निवासी एक ही परिवार के तीन लोगों पर 15 से 20 लोगों ने ताबातोड़ चाकुओं से हमला किया,जिसमें 35 साल के दीपक ने अपनी जान गवा दी।

शर्मनाक! हरियाणा में 6 साल की मासूम बच्ची से यौन शोषण के बाद हत्या

मामला 1500 रुपये के लेन देन के झगड़े के बीचबचाव का बताया जा रहा है। इस दौरान ही आरोपियों ने इस वारदात को खूनी मोड़ दे दिया। इस हमले में परिवार के तीन सदस्यों  में से एक दीपक की मौत हो गई। वहीं,  दीपक के माता - पिता बुरी तरह से घायल हो गए है। यह वारदात रविवार रात करीब 10 बजे की वजीरपुर के जेजे कॉलोनी की बताई जा रही है।

बता दें कि रोहित और रवि से विशाल अपने 1500 रुपये मांगने पहुंचा था। दोनों के बीच इस बात को लेकर जबरदस्त तरीके से कहा सुनी शुरू हो गई और मामला बढ़ता चला गया। इस बारे में जब विशाल के चचेरे भाई दीपक को पता चला तो उसने मौके पर पहुंचकर आरोपी रोहित और रवि को थप्पड़ मारकर झगड़ा शांत करा दिया। बाद में सब अपने - अपने घर की ओर रवाना हो गए।

जब लगा कि मामला अब पूरी तरह से शांत हो गया है तभी थोड़ी देर बाद आरोपी रोहित और रवि के साथ 15 से 20 लोग बाइकों पर सवार होकर यहां आए और परिवार पर चाकू से ताबड़तोड़ हमला करने लगे। अपने इस खौफनाक वारदात को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी  वहां से फरार हो गए। वहीं, वह अपनी बाइकों को वहीं छोड़कर भाग गए।

इस हमले में जहां दीपक की मौत हो गई तो वहीं उसके माता पिता बुरी तरह से घायल हो गए। जिसके बाद दोनों को दीपचंद बंधु अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां फिलहाल उनकी हालत काफी नाजुक बताई जा रही है।

इस खौफनाक वारदात के होने के बाद अब इलाके में पुलिस को तैनात कर दिया है। इसके अलावा पुलिस ने इस वारदात को लेकर मामला भी दर्ज कर आरोपियों की तलाश करना शुरू कर दी है। वहीं, आरोपी पीड़ित के पड़ोसी बताए जा रहे है। पीड़ित परिवार ने पुलिस पर लापरवाही बरतने तक का आरोप लगाया है।

ऑल इंडिया उत्तराखंड गोल्ड कप क्रिकेट टूर्नामेंट में ओएनजीसी और नॉर्दर्न क्वार्टर फाइनल में

वहीं, इस मामले को लेकर मृतक दीपक के छोटे चचेरे भाई का कहना है कि अगर पुलिस समय पर आ जाती , तो आज मेरे भाई की यह हालत नहीं होती। हमने पीसीआर को फोन कर इस झगड़े की जानकारी दी थी, लेकिन कम से कम आधे घंटे के बाद भी पुलिस घटनास्थल पर नहीं पहुंची। इतने में आारोपियों ने कत्ल की वारदात को अंजाम दे दिया। परिजनों ने बताया कि आरोपियों ने सिर पर ब्लेड से भी घातक हमला किया था। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.